ताज़ा खबर
 

यूपी: थाने में लगा बोर्ड- दलालों का प्रवेश वर्जित, मुफ्त में लिखी जाएगी शिकायत

कोतवाली में लगे इस बोर्ड में लिखा है, "सामाजिक व्यवस्था को मजबूत करने के लिए पुलिस का सहयोग करें, ताकि पुलिस आपकी सुरक्षा के लिए तत्पर रहे, पुलिस आपकी मित्र है, न कि विरोधी, ये थाना आपका है, हमारी नियुक्ति आपकी सुरक्षा के लिए हुई है।"

UP police, muzaffarnagar police, Yogi adityanath police, Jansath police, योगी आदित्यनाथ, यूपी पुलिस, मुजफ्फरनगर, फतेहपुर, जानसठ पुलिस स्टेशन, उत्तर प्रदेश पुलिस, Hindi news, news in Hindi, Jansattaउत्तर प्रदेश पुलिस (image source-Twitter)

यूपी पुलिस अपनी इमेज को सुधारने के लिए तरह-तरह की कवायद कर रही है। इसी सिलसिले में मुजफ्फरनगर जिले की जानसठ पुलिस ने थाने के बाहर एक बोर्ड लगाया है। इस बोर्ड में लिखा है कि कोतवाली में दलालों का प्रवेश पूर्ण रूप से वर्जित है। बोर्ड में इस बिंदू पर खास जोर दिया गया है। इसके अलावा पुलिस का कहना है कि थाने में सभी शिकायतें निशुल्क लिखी जाएंगी। बोर्ड में लिखा है कि आम जनता को चाहिए कि वे पुलिस को सहयोग देकर कानून के हाथ मजबूर करें। पुलिस ने कोतवाली में लगाये इस बोर्ड में लिखा है, “सामाजिक व्यवस्था को मजबूत करने के लिए पुलिस का सहयोग करें, ताकि पुलिस आपकी सुरक्षा के लिए तत्पर रहे, पुलिस आपकी मित्र है, न कि विरोधी, ये थाना आपका है, हमारी नियुक्ति आपकी सुरक्षा के लिए हुई है।”

बता दें कि ये बोर्ड आस-पास के इलाके में चर्चा का विषय बना हुआ है। इस थाने की पुलिस का कहना है कि मुजफ्फरनगर में पुलिस जनता के मित्र सहयोगी और दोस्ती का रिश्ता होना चाहिए। लोगों को जब भी जरूरत पड़े पुलिस को बुलाएं और जनता को चाहिए कि वह पुलिस की मदद करे, उसे सूचनाएं दे। पुलिस जनता से अच्छे रिश्ते बनाने के लिए खास योजना बना रही है इसी के तहत चार दिन पहले ये बोर्ड लगाया गया है। वहीं जनता मानती है कि पुलिस ने ये बोर्ड सीएम योगी आदित्यनाथ द्वारा की गई सख्ती के बाद लगाया है।

बता दें कि कुछ ही दिन पहले सीएम योगी आदित्यनाथ ने भ्रष्टाचार पर कड़ी कार्रवाई की थी। सीएम योगी ने अनियमितता बरतने, अवैध खनन की शिकायतें मिलने पर फतेहपुर और गोंडा के जिलाधिकारी को सस्पेंड कर दिया था। सीएम ने पुलिस अधिकारियों को भी फटकार लगाई थी। समाजवादी पार्टी के नेता अखिलेश यादव ने भी योगी सरकार पर हमला बोला था। अखिलेश ने कहा था कि थानों में पीड़ितों की सुनवाई नहीं होती है बल्कि यहां पर अपराधियों का संरक्षण होता है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 महिला ने खून से लिखी सीएम योगी को चिट्ठी- बीजेपी नेता से जमीन छुड़वाओ या दे दो मौत
2 ‘5 मिनट में मुसलमानों का सफाया!’ थाने पहुंचे बीजेपी विधायक, कहा- मेरे नाम पर फर्जी बयान कर रहे वायरल
3 मरीजों की मौत ने दिखाई बड़े अस्पताल की बदहाली
IPL 2020 LIVE
X