ताज़ा खबर
 

प्रार्थना के दौरान हाथ जोड़ने और वंदे मातरम कहने पर छात्रों को पीटा, प्रिंसिपल शाहिद फैसल निलंबित

गांव के लोगों ने कहा कि प्रिंसिपल शाहिद फैसल प्रार्थना के दौरान छात्रों को हाथ जोड़ने और वंदे मातरम से दूर रहने की हिदायत दे रहे थे।

Author December 30, 2017 4:39 PM
मिर्जापुर जिले के जमालपुर ब्लॉक के जाफरखानी गांव स्थित प्राथमिक विद्यालय के प्रधानाध्यापक शाहिद फैसल को निलंबित कर दिया गया है(File photo)

उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर में प्राथमिक विद्यालय के प्रिंसिपल को सस्पेंड कर दिया गया है। इस प्रिंसिपल पर स्कूल में प्रार्थना के दौरान हाथ जोड़ रहे और वंदे मातरम गा रहे बच्चों की पिटाई का आरोप है। बेसिक शिक्षा अधिकारी प्रवीण कुमार तिवारी ने इसकी जानकारी दी है। बीएसए का कहना है कि ग्रामीणों के आरोप के बाद यह कार्रवाई की गई है। उन्होंने कहा कि मिर्जापुर जिले के जमालपुर ब्लॉक के जाफरखानी गांव स्थित प्राथमिक विद्यालय के प्रधानाध्यापक शाहिद फैसल को निलंबित कर दिया गया है, और जांच की जा रही है। हालांकि ये मामला लगभग एक साल पुराना है। गांव के लोगों ने कहा कि प्रिंसिपल शाहिद फैसल प्रार्थना के दौरान छात्रों को हाथ जोड़ने और वंदे मातरम से दूर रहने की हिदायत दे रहे थे। जो छात्र हाथ जोड़ते थे उनकी पिटाई की जाती थी।

इस शिकायत की जांच करने के लिए चुनार के एसडीएम अविनाश त्रिपाठी शुक्रवार (30 दिसंबर) को स्कूल पहुंचे। एसडीएम अविनाश त्रिपाठी ने इस दौरान छात्रों और ग्रामीणों से बात की, उन्होंने अभिभावकों, शिक्षकों, शिक्षामित्रों और छात्रों से बात की और उनके बयान को दर्ज किया और कहा कि पूछताछ में ये आरोप सही साबित हुए हैं। बीईओ प्रदीप मिश्र ने भी अपनी जांच में इन आरोपों को सही पाया था। इसके बाद बीईओ जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी (बीएसए) को रिपोर्ट भेजी दी थी। इस प्रशासनिक कार्रवाई के बाद अदलहाट और जमालपुर पुलिस को गांव में शांति व्यवस्था बनाये रखने की जिम्मेदारी दी गई है।

बता दें कि वंदे मातरम गाने का मुद्दा राजनीतिक रूप से काफी संवेदनशील रहा है। मुस्लिम समुदाय के अधिकांश लोगों ने इसे गाने से इनकार किया है।वंदे मातरम भारत का राष्ट्रगीत है। बांग्ला भाषा में बंकिमचन्द्र चट्टोपाध्याय द्वारा रचित यह गीत स्वतंत्रता आंदोलन के दौरान क्रांतिकारियों और स्वतंत्रता सेनानियों को सूत्र वाक्य बन गया था। यह गीत बंकिमचन्द्र चट्टोपाध्याय के उपन्यास आनंद मठ से लिया गया है।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App