ताज़ा खबर
 

उत्तर प्रदेश: मंत्री ने पकड़ी IAS को हटवाने की जिद, दी योगी आदित्‍य नाथ सरकार के खिलाफ धरने की धमकी

उत्तर प्रदेश सरकार में मंत्री ओम प्रकाश राजभर ने एक सरकारी अधिकारी को हटाने की मांग की है।

भारतीय समाज पार्टी (भासपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष व राज्य के पिछड़ा वर्ग कल्याण मंत्री ओमप्रकाश राजभर (Facebook Photo)

उत्तर प्रदेश सरकार में मंत्री ओम प्रकाश राजभर ने एक सरकारी अधिकारी को हटाने की मांग की है। वहीं राजभर ने उनकी मांग को पूरा नहीं करने पर धरने पर बैठने की धमकी भी दी है। एनडीटीवी की खबर के मुताबिक, राजभर ने यह मांग प्रशासनिक अधिकारी संजय कुमार खत्री से चल रहे उनके विवाद के कारण उठाई है। खबर के मुताबिक बीते एक महीने से यह विवाद जारी है क्योंकि संजय कुमार ने राजभर से जुड़े लोगों के खिलाफ कार्रवाई के आदेश दिए थे। राजभर ने बीते शनिवार (1 जून) को धरने पर बैठने की बात कही थी। राजभर, भारतीय समाज पार्टी के लीडर हैं, जो राज्य में आदित्य नाथ सरकार के साथ साझेदारी में है। पूर्वी उत्तर प्रदेश के कई इलाकों को इस पार्टी का गढ़ माना जाता है।

वहीं संजय कुमार खत्री गाजीपुर के जिला मजिस्ट्रेट हैं। खबर के मुताबिक, राजभर के कुछ करीबी साथियों ने अधिकारियों के साथ बदसुलूकी की थी जिसके बाद ही उन्होंने लोगों के खिलाफ कार्रवाई की थी। मामले को लेकर राजभर ने कहा, “मैं प्रशासन की नाकामी को लेकर परेशान हूं। मैं राजनीति में किसी पद के लिए नहीं हूं बल्कि जनता की सेवा के लिए हूं और इसके साथ मैं समझौता नहीं होने दूंगा।” राजभर के आज इस मामले को लेकर सीएम योगी आदित्य नाथ से मिलने की उम्मीद है। उनका दावा है मामले को लेकर वह खत्री के खिलाफ मिली 19 शिकायतों की एक सूची का ब्यौरा सीएम आदित्य नाथ को देंगे। वहीं मामले को लेकर जिला मजिस्ट्रेट की तरफ से अभी तक कुछ नहीं कहा है।

बता दें राज्य में प्रशासनिक अधिकारियों के साथ भारतीय जनता पार्टी के नेताओं के बीच हुआ यह दूसरा बड़ा मामला सामने आया है। बीते शनिवार को एक महिला पुलिस अधिकारी श्रेष्‍ठा ठाकुर के साथ बीजेपी कार्यकर्ताओं के विवाद के चलते उनका तबादला कर दिया गया। वहीं राज्य में अभी तक 234 अफसरों का तबादला किया जा चुका है। श्रेष्‍ठा ठाकुर ने इस तबादले को फेसबुक अकाउंट के जरिए ‘अच्‍छे कामों का इनाम’ बताया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App