ताज़ा खबर
 
  • राजस्थान

    Cong+ 86
    BJP+ 69
    RLM+ 0
    OTH+ 13
  • मध्य प्रदेश

    Cong+ 71
    BJP+ 60
    BSP+ 5
    OTH+ 2
  • छत्तीसगढ़

    Cong+ 40
    BJP+ 28
    JCC+ 4
    OTH+ 0
  • तेलांगना

    TRS-AIMIM+ 83
    TDP-Cong+ 23
    BJP+ 5
    OTH+ 5
  • मिजोरम

    MNF+ 14
    Cong+ 6
    BJP+ 1
    OTH+ 1

* Total Tally Reflects Leads + Wins

यूपी उपचुनाव: योगी आदित्‍यनाथ बोले- गन्‍ना तो ठीक है, पर जिन्‍ना नहीं

सीएम ने कहा कि सपा सरकार ने राज्य में कानून-व्यवस्था ध्वस्त कर दी थी लेकिन बीजेपी की सरकार आने के बाद सबकुछ पटरी पर लौटने लगा है। उन्होंने कहा कि हमारी कड़ी नीति और सख्त अभियान की वजह से राज्य के कुख्यात अपराधी अपराध छोड़ ठेले पर सब्जी बेचने लगे हैं।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (PTI फोटो)

कैराना संसदीय सीट और नूरपुर विधान सभा सीट पर होने वाले उप चुनावों से ठीक चार दिन पहले उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार (24 मई) को शामली और बिजनौर में चुनावी सभाओं को संबोधित किया और एकजुट विपक्ष पर जमकर हमला बोला। योगी ने अपने भाषण में बार-बार साम्प्रदायिक और असामाजिक तत्वों ताकतों से निपटने का आह्वान किया। उन्होंने अपने संबोधन में साल 2013 के मुजफ्फरनगर दंगों में मारे गए जाट युवकों सचिन और गौरव का तीन बार नाम लिया, जिसकी भीड़ ने पीट-पीटकर हत्या कर दी थी। इस हत्या के बाद ही महापंचायत बुलाई गई थी। महापंचायत के बाद पश्चिमी उत्तर प्रदेश में जाटों और मुस्लिमों के बीच दंगे भड़क उठे थे। बता दें कि 28 मई को कैराना और नूरपुर में उप चुनाव होने हैं। 31 मई को नतीजे आएंगे।

कैराना संसदीय सीट पर बीजेपी की उम्मीदवार मृगांका सिंह के समर्थन में सभा को संबोधित करते हुए योगी आदित्यनाथ ने कहा, “मुझे पता है, इस चुनाव से पहले इलाके में ध्रुवीकरण हो चुका है। एक तरफ वे लोग हैं जिन्होंने पश्चिमी उत्तर प्रदेश को दंगों की आग में झोका और दूसरी गौरव और सचिन जैसे युवक मारे गए और सैकड़ों लोग डर और दहशत के साए में जीने वाले लोग हैं। उस वक्त कोई पीड़ितों के जख्मों पर मरहम लगाने नहीं पहुंचा था। सिर्फ और सिर्फ बीजेपी के लोग इस मुद्दे को उठा रहे थे। सुरेश राणा (यूपी में मंत्री), संजीव बलयान (केंद्रीय मंत्री), हुकुम सिंह (दिवंगत सांसद) जैसे लोगों को आवाज उठाने पर या तो जेल भेज दिया गया या उनका मुंह बंद कराने की कोशिश की गई।” योगी ने पूछा कि जब सचिन और गौरव की हत्या हुई थी तब समाजवादी पार्टी और अन्य दलों के लोग चुर क्यों थे, ये लोग कहां थे?

योगी आदित्यनाथ ने अपने संबोधन में हाल के दिनों में अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में पाकिस्तान के जनक मोहम्मद अली जिन्ना की तस्वीर पर उपजे विवाद पर भी टिप्पणी की। इन्होंने गन्ना और जिन्ना की भी बात करते हुए संबोधन में कहा, “कोई कह रहा कि गन्ना या जिन्ना? मैं कह सकता हूं कि गन्ना हमारा मुद्दा है लेकिन जिन्ना की तस्वीर भी नहीं लगने देंगे हम लोग।” मुख्यमंत्री ने कहा कि गन्ना किसानों को चीनी मिलों ने करीब 984.88 करोड़ रुपये का भुगतान कर दिया है। उन्होंने कहा कि वो किसानों की हर चिंता दूर करने के लिए तत्पर हैं। विकास के मुद्दे पर सीएम ने विपक्ष को टांग अड़ाने किे लिए आड़े हाथों लिया और कहा कि सपा-बसपा के लोग राज्य के विकास को अवरुद्ध करना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि पूर्व की सपा सरकार ने राज्य में कानून-व्यवस्था ध्वस्त कर दी थी लेकिन बीजेपी की सरकार आने के बाद सबकुछ पटरी पर लौटने लगा है। राज्य का आर्थिक स्थिति भी सुधरने लगी है। उन्होंने कहा कि हमारी कड़ी नीति और सख्त अभियान की वजह से राज्य के कुख्यात अपराधी अपराध छोड़ ठेले पर सब्जी बेचने लगे हैं।

सीएम योगी ने यह भी कहा कि उनकी सरकार युवाओं के लिए रोजगार के सुनहरे अवसर पैदा कर रही है। उन्होंने कहा कि आने वाले दिनों में राज्य में 1.62 लाख पुलिस कॉन्स्टेबल और 1.37 लाख शिक्षकों की भर्ती की जाएगी। उन्होंने यह भी दावा किया कि उनकी सरकार ने संविदा पर नियुक्त शिक्षकों और आंगनबाड़ी सेवाकाओं-सहायिकाओं के मनदेय में भी बढ़ोत्तरी की है। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार राज्य में एक भी चीनी मिल बंद होने नहीं देगी और न किसानों को गन्ना खेत में जलाने को विवश होने देगी। उन्होंने कहा कि बीजेपी के शासनकाल में किसानों को गन्ने की सबसे ऊंची कीमत दी गई है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App