ताज़ा खबर
 

योगी सरकार का अफसरों को फरमान- विधायकों को खड़े होकर रिसीव करें, चाय नाश्ता भी कराएं

इसमें राज्य के सभी उच्च अधिकारियों और पुलिस अफसरों से कहा गया कि मंत्रियों को रिसीव करने के दौरान उन्हें उच्च प्राथमिकता दें।

यूपी के सीएम योगी आदित्य नाथ अधिकारियों के साथ बैठक करते हुए। (फोटो- फेसबुक)

उत्तर प्रदेश के चीफ सेक्रेटरी ने सरकारी अधिकारियों को एक विशेष लिस्ट सौंपकर नया आदेश दिया है। साथ ही अधिकारियों से कहा गया है कि किसी मंत्री या विधायक के आने पर उन्हें खड़े होकर रिसीव करें। और उन्हें उच्च प्राथमिकता भी दें। टीवी चैनल रिपब्लिक की एक रिपोर्ट के मुताबिक सूबे के एक मंत्री की शिकायत के बाद ये आदेश जारी किए गए हैं। दरअसल बीते दिनों एक मंत्री ने आरोप लगाया कि अधिकारियों ने उन्हें उच्च सम्मान नहीं दिया। इसपर उत्तर प्रदेश के चीफ सेक्रेटरी राजीव कुमार ने बीती 18 अक्टूबर को एक आदेश जारी किया। इसमें राज्य के सभी उच्च अधिकारियों और पुलिस अफसरों से कहा गया कि मंत्रियों को रिसीव करने के दौरान उन्हें उच्च प्राथमिकता दें।

आदेश में आगे कहा गया कि अगर मंत्री आगमन के दौरान वो व्यस्त हैं तो फोन कर उन्हें इसकी जानकारी दें। साथ ही जल्द फ्री होने की कोशिश करें। गौरतलब है कि आदेश में सूबे को विधायकों को भी सम्मान देने की बात कही गई हैं। इसमें मंत्रियों और विधायकों को कुर्सी से खड़े होकर उनका स्वागत करने के लिए कहा गया। रिपब्लिक न्यूज के अनुसार अधिकारियों को सांसद, विधायकों को चाय नाश्ता कराने के लिए भी कहा गया। आदेश में ये भी कहा गया है कि विधायक, सांसद जब मीटिंग के बाद निकले तो उन्हें उच्च सुरक्षा दी जाए।

जानकारी के लिए बता दें कि पश्चिमी यूपी में तैनात एक महिला सीओ ने कथित तौर पर एक विधायक अपमान किया था। इस दौरान सीओ ने भाजपा विधायक को उल्टा-सीधा कहते हुए कहा कि वो भाजपा की छवि खराब कर रहे हैं। घटना का एक वीडियो भी वायरल किया गया जिसमें अधिकारी कथित तौर पर विधायक को धमकाते हुए नजर आ रही हैं।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App