ताज़ा खबर
 

नोएडा: पुलिस मुठभेड़ में मारा गया एक लाख रुपये इनामी बदमाश, 3 पुलिसकर्मी घायल

अधिकारी ने बताया कि मुठभेड़ फेस-3 स्थित पर्थला चौक के पास हुई। पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी कि श्रवण और उसके साथी इलाके में आ रहे हैं। शर्मा ने बताया, "पुलिस की टीम वहां तैनात की गई और सभी मुख्य सड़कों को बैरिकेड लगाकर बंद कर दिया गया।"

Author नोएडा | March 25, 2018 17:04 pm
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है। (एक्सप्रेस फोटो)

उत्तर प्रदेश पुलिस ने रविवार को एक वांछित अपराधी को मुठभेड़ में मार गिराया। पुलिस ने बताया कि इससे पहले कि अपराधी पर काबू पाते उसने एके-47 राइफल से गोली चलाकर पुलिस के तीन जवानों को घायल कर दिया। श्रवण (30) एक लाख रुपये का इनामी बदमाश था। दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी परिक्षेत्र (एनसीआर) में हत्या, हत्या की कोशिश, अपहरण, और वाहन चोरी के 12 मामलों में पुलिस को उसकी तलाश थी। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अजय पाल शर्मा ने कहा, “गाजियाबाद निवासी श्रवण यहां 2017 में एक मीडिया समूह के चालक से एसयूवी छीनने वाले गिरोह का सरगना था। उसने 2016 में आपसी रंजिश में दिल्ली में एक आदमी की हत्या कर दी थी।”

अधिकारी ने बताया कि मुठभेड़ फेस-3 स्थित पर्थला चौक के पास हुई। पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी कि श्रवण और उसके साथी इलाके में आ रहे हैं। शर्मा ने बताया, “पुलिस की टीम वहां तैनात की गई और सभी मुख्य सड़कों को बैरिकेड लगाकर बंद कर दिया गया।” पुलिस अधिकारी ने बताया, “पुलिस ने एक मारुति स्विफ्ट डीजायर को जैसे ही रुकने के लिए कहा, वैसे ही गाड़ी से श्रवण और उसके साथी ने पुलिस पर एके-47 और एक स्वाचालित राइफल से गोली चला दी।

इसके बाद जवाबी कार्रवाई में श्रवण घायल हो गया जबकि उसका साथी भागने में सफल रहा।” पुलिस अधिकारी ने कहा कि श्रवण को जिला अस्पताल ले जाया गया जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया। एसएसपी ने कहा, “पिछले कुछ दिनों से दिल्ली और उत्तर प्रदेश की पुलिस द्वारा उसकी गिरफ्तारी के लिए दबिश दी जा रही थी। राइफल जब्त कर ली गई है।” आपको बता दें कि पिछले काफी समय से यूपी पुलिस बदमाशों को ठिकाने के काम में लगी हुई है। 4 मार्च को बुलंदशहर पुलिस ने 50 हजार रुपए ईनामी बदमाश को ढेर कर दिया था। आरोपी की पहचान कलुआ के रूप में हुई थी। कलुआ के खिलाफ हत्या और रंगदारी के दर्जनों मामले दर्ज थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App