ताज़ा खबर
 

यूपी पेट्रोल पम्प घोटाला: STF ने पुणे-ठाणे में रेड कर बरामद किए माइक्रोचिप-रिमोट, 2 गिरफ्तार

यूपी पेट्रोल पम्प स्कैम के बाद एसटीएफ ने महाराष्ट्र के पुणे और ठाणे में बीती रात कई जगहों पर रेड डाली।

STF द्वारा बरामद किया गया सामान। (Source: ANI)

उत्तर प्रदेश के कई पेट्रोल पम्प पर बीते महीने ग्राहकों को चूना लगाकर उन्हें कम तेल देने की कई खबरें सामने आई थीं। इस केस को लेकर एक बार फिर से यूपी एसटीएफ ने अपनी कार्रवाई की है जिसमें उसे कामयाबी हासिल हुई है। यूपी पेट्रोल पम्प स्कैम के बाद एसटीएफ ने महाराष्ट्र के पुणे और ठाणे में बीती रात कई जगहों पर रेड डाली है जिसमें उन्होंने बड़ी तादाद में माइक्रोचिप्स, इलेक्ट्रॉनिक पार्ट्स जैसे मदरबोर्ड, रिमोट डिवाइस आदि चीजें बरामद की है। सामाचार एजंसी एएनआई के मुताबिक यह जानकारी सामने आ रही है। वहीं सामान बरामद करने के अलावा पुलिस ने 2 लोगों को भी गिरफ्तार किया है।

बता दें कि उत्तर प्रदेश में बीते महीने कई पेट्रोल पम्प पर हो रही तेल की चोरी की खबर सामने आई थी। अंदाजा लगाया जा रहा था कि पेट्रोल स्कैम की वजह से लोग जितना पेट्रोल-डीजल डलवा रहे थे उसमें से ग्राहकों को 10-15 प्रतिशत कम मिल रहा था। पेट्रोल कम करने का यह काम इलेक्ट्रॉनिक चिप के जरिए किया जा रहा था। इस स्कैम की खबरें सामने आने के बाद उत्तर प्रदेश पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने राज्य में कई जगह छापेमारी की थी जिसके  विरोध में कई पेट्रोल पम्प मालिकों ने हड़ताल भी की थीं।

ऐसे होती थी चोरी- पेट्रोल में धांधली का काम चिप के जरिए किया जात था। रिपोर्ट्स के मुताबिक इस काम को करने के लिए 2 से 3 लोग सक्रिय रहते हैं। जहां एक पेट्रोल डालता है वहीं दूसरा एक रिमोट के जरिए मशीन में कुछ गड़बड़ी करता था। चिप का इस्तेमाल पेट्रोल डालने वाली नोजल के नीचे लगाकर किया जाता है। जैसे ही पेट्रोल डलता है उस समय अपने हिसाब से व्यक्ति रिमोट का बटन दबा देता है जिससे पेट्रोल की मात्रा कम हो जाती थी। इससे गाड़ी में पेट्रोल डलना बंद हो जाता है लेकिन मशीन ग्राहक की मांग के अनुसार पेट्रोल और पैसे की रीडिंग दिखाती है। यह चिप और रिमोट बहुत ही आसानी से दिल्ली और कानपुर के बाजारों में एक से दो हजार रुपए में मिल जाते है। वहीं इस स्कैम को अंजाम देने के लिए मशीन में एक मदरबोर्ड भी फिक्स किया जाता था जिसके जरिए प्रोग्रामिंग की जाती थी।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App