ताज़ा खबर
 

Lucknow Vivek Tiwari Murder Case: योगी सरकार ने उठाया बड़ा कदम, पुलिसकर्मियों को अब इसकी भी लेनी होगी ट्रेनिंग

Lucknow Vivek Tiwari Apple Store Employee Murder Case: लखनऊ जोन के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक राजीव कृष्ण के मुताबिक, ये कदम इसलिए उठाया जा रहा है ताकि नागरिकों में पुलिस के प्रति भरोसा पैदा हो सके और पुलिस विभाग भी इससे लाभ उठा सके।

Author October 2, 2018 5:05 PM
लखनऊ एनकाउंटर में मारे गए एप्पल के एरिया मैनेजर विवेक तिवारी। फोटो- PTI

Lucknow Vivek Tiwari Apple Store Employee Murder Case: अब यूपी सरकार लखनऊ में पदस्थ विभिन्न बैच के पुलिस के सिपाहियों को अच्छा व्यवहार करने की ट्रेनिंग देगी। किसी वाहन या व्यक्ति की जांच करना भी इस प्रशिक्षण का हिस्सा होगा। ये फैसला लखनऊ में एप्प्ल कंपनी के एरिया मैनेजर विवेक तिवारी की हत्या पुलिस की गोली से होने के बाद लिया गया है। इस घटना में पुलिस के सिपाही ने इसलिए विवेक तिवारी को गोली मार दी थी क्योंकि उसने कथित तौर पर पुलिसकर्मियों से भागने की कोशिश की थी।

लखनऊ जोन के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक राजीव कृष्ण के मुताबिक, ये कदम इसलिए उठाया जा रहा है ताकि नागरिकों में पुलिस के प्रति भरोसा पैदा हो सके और पुलिस विभाग भी इससे लाभ उठा सके। उन्होंने कहा,”लोगों का ये जानना चाहिए कि हम भी एक व्यवस्था और रणनीतिक स्तर पर काम करते हैं। जो घटना हुई है उसके बारे में दूसरी बात ये भी है कि उस घटना की जांच पहले से एसआईटी के द्वारा की जा रही है।

एडीजी ने कहा,” हम उम्मीद करते हैं कि भविष्य में ऐसी कोई भी घटना नहीं होगी, ये एक बात है। लेकिन उसे होने से रोकने के लिए ठोस कदम उठाना, दूसरी बात है। हम लखनऊ में 2015-16 बैच के सिपाहियों से शुरू करेंगे और बाद में उसे जिले में पदस्थ सभी पुलिसकर्मियों (करीब 2400) तक ले जाएंगे।” उन्होंने कहा,”इस विषय पर व्याख्यान देने वाले कुछ लोगों को बाहर से बुलाया जाएगा जबकि कुछ लोग खुद विभाग के ही होंगे। इस विषय पर विस्तृत जानकारी देने के लिए अगले बुधवार (3 अक्टूबर) को प्रेस वार्ता का आयोजन किया जाएगा।”

गौरतलब है कि लखनऊ के गोमती नगर में बीते 29 सितंबर को तड़के 1.30 बजे मकदूमपुर पुलिस चौकी के पास दो सिपाहियों ने एसयूवी में सवार ‘एप्पल’ के एरिया सेल्स मैनेजर विवेक तिवारी को गोली मार दी थी। गोली लगते ही उसका संतुलन बिगड़ा और वाहन डिवाइडर से टकरा गया। वहीं सिर पर गोली लगने से विवेक की मौके पर ही मौत हो गई। यह देखते ही दोनों आरोपी सिपाही मौके से भाग निकले। दूसरे पुलिसकर्मियों ने विवेक को अस्पताल पहुंचाया, जहां चिकित्सकों ने विवेक को मृत घोषित कर दिया। हादसे के वक्त विवेक तिवारी के साथ रहीं सना की शिकायत पर पुलिस ने मामला दर्ज कर गोलीबारी करने वाले कांस्टेबल प्रशांत चौधरी और संदीप कुमार को गिरफ्तार कर लिया गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App