ताज़ा खबर
 

उत्तर प्रदेश: स्कूल में दो नाबालिग लड़कियों से किया सामूहिक बलात्कार, बाद में जंगल में फेंककर आरोपी फरार

दोनों नाबालिग शौच के लिए निकली थीं। तभी कार में सवार होकर आए उनके पांच पड़ोसियों ने उन्हें जबरन अपनी कार में खींच लिया।

Author बुलंदशहर | Published on: July 3, 2017 12:09 AM
इस तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

जिले के जहांगीराबाद थाने के गांव में पड़ोस के ही पांच लोगों ने दो नाबालिगों को पहले अगवा करके स्कूल के कमरे में ले जाकर सामूहिक बलात्कार किया। इतना ही नहीं आरोपियों ने दोनों को सलेमपुर के जंगलों में फेंक कर फरार हो गए। पुलिस दो परिवारों के बीच चुनावी रंजिश बताते हुए जांच के बाद कार्रवाई की बात कह रही हैं। जहांगीराबाद थाने के एक गांव में दोनों नाबालिग शौच के लिए निकली थीं। तभी कार में सवार होकर आए उनके पांच पड़ोसियों ने उन्हें जबरन अपनी कार में खींच लिया। आरोपियों ने गांव के बाहर बने सरकारी स्कूल के बंद पड़े कमरे में सामूहिक बलात्कार किया। इसके बाद आरोपियों ने पीड़िताओं को जहांगीराबाद के सीमा से बाहर सलेमपुर थाने के जंगलों में फेंक कर फरार हो गए। सूचना पर पहुंची पुलिस ने दोनों नाबालिगों को बरामद कर लिया। इसके बाद पीड़िताओं ने परिजनों को आपबीती सुनाई।

पुलिस ने मामला दर्ज कर नाबालिगों को जांच के लिए तो भेज दिया है। पुलिस के आला अधिकारी इसे आपसी रंजिश मानते हुए जांच के बाद कार्रवाई की बात कर रहे हैं। आपसी रंजिश बताकर बुलंदशहर पुलिस लीपापोती करती नज़र आ रही है। बुलंदशहर पुलिस का बलात्कार की घटनाओं पर लीपापोती करने का ये पहला मामला नहीं है। इससे पहले भी बुलंदशहर एनएच 91 पर हुई मां बेटी के साथ दरिंदगी को अपने ही आला अधिकारियों से छुपा रही थी। हालांकि घटना मीडिया के सामने आने के बाद जिले के कप्तान सहित कई अधिकारियों पर भी गाज गिरी थी।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 अयोध्या में भव्य राम मंदिर बनने पर मुसलमान मजार पर चढ़ाएंगे सोने की चादर, 1000 गरीबों को कराएंगे भोजन
2 गैंगरेप पीड़‍िता पर फिर से एसिड अटैक होने की खबर पर बोले योगी- देखना होगा कि सच में ऐसा हुआ या नहीं
3 बीफ का था शक तो रुकवा दी यूपी की रोडवेज बस, जांच के बाद बोले डॉक्टर – बकरे का था मांस