Train Accident in UP, Shaktipunj Express 7 coaches jumps off the track in uttar pradesh's sonbhadra district first Challenge to Piyush Goyal - पीयूष गोयल के रेल मंत्री बनने के बाद पहला रेल हादसा, यूपी में बेपटरी हुई शक्तिपुंज एक्सप्रेस - Jansatta
ताज़ा खबर
 

पीयूष गोयल के रेल मंत्री बनने के बाद पहला रेल हादसा, यूपी में बेपटरी हुई शक्तिपुंज एक्सप्रेस

Train Accident in UP, Shaktipunj Express: ये ट्रेन हावड़ा से जबलपुर की ओर जा रही थी।

शक्तिपुंज एक्स. की सात बोगियां पटरी से नीचे उतर गई (फोटो-एएनआई)

उत्तर प्रदेश के सोनभद्र जिले में एक ट्रेन हादसे की खबर आ रही है। शुरुआती जानकारी के मुताबिक हावड़ा-जबलपुर एक्सप्रेस की 7 बोगियां ओबरा के नजदीक पटरी से उतर गईं। ये ट्रेन हावड़ा से जबलपुर की ओर जा रही थी। रेलवे ने घटनास्थल पर राहत और बचाव कार्य शुरु कर दिया है। हादसे में फिलहाल किसी के घायल होने की खबर नहीं है। लेकिन ट्रेन दुर्घटना की वजह से इस रुट पर ट्रेनों की आवाजाही बंद हो गई है। समाचार एजेंसी एएनआई से मिली जानकारी के मुताबिक घटनास्थल पर पटरी कई भागों में टूटी हुई है। खबरों के मुताबिक ये हादसा सुबह 6.30 बजे हुआ है। गनीमत ये थी उस वक्त ट्रेन की रफ्तार कम थी इस वजह से ट्रेन के डिब्बे सिर्फ पटरी से उतर गये। अगर ट्रेन की रफ्तार ज्यादा होती तो अंजाम भयानक हो सकता था। रेल मंत्रालय के अधिकारी अब घटनास्थल पर पहुंचने लगे हैं। शक्तिपुंज एक्सप्रेस के सात बोगियों के पैसेंजर्स को बाकी कोच में शिफ्ट कर दिया गया है। बता दें कि पीयूष गोयल के रेल मंत्री बनने के बाद ये पहला रेल हादसा है।

रेलवे के पीआरओ अनिल सक्सेना ने कहा कि ओबरा के नजदीक सुबह लगभग 6.25 बजे ये हादसा हुआ है। अनिल सक्सेना ने कहा कि हादसे में किसी के हताहत होने की कोई खबर नहीं है और रेल मंत्री को पूरी जानकारी दे दी गई है। बता दें कि इससे पहले यूपी के खतौली में भी ट्रेन हादसा हुआ था यहां कलिंग-उत्कल एक्सप्रेस पटरी से उतर गई थी। इस हादसे में 20 लोगों की जान गई थी। इसके बाद  यूपी के ही मुजफ्फरनगर में  कैफियत एक्सप्रेस एक डंपर से टकरा गई थी। इससे ट्रेन के 14 डिब्बे पटरी से उतर गए। इस घटना में 74 यात्री घायल हो गए थे।

यह एक महीने में चौथा रेल हादसा है। बता दें कि कलिंग-उत्कल एक्सप्रेस और कैफियत एक्सप्रेस के हादसे के बाद तब के रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने इस्तीफे की पेशकश की थी। तब पीएम मोदी ने उन्हें अपने पद पर बने रहने को कहा था लेकिन हाल के कैबिनेट विस्तार के दौरान सुरेश प्रभु से रेल मंत्रालय ले लिया गया और ये जिम्मेदारी पीयूष गोयल को सौंपी गई, जो इससे पहले ऊर्जा मंत्रालय संभाल रहे थे। पीयूष गोयल के पास रेलवे को पटरी पर लाने के अहम जिम्मेदारी है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App