ताज़ा खबर
 

यूपी: यमुना एक्सप्रेसवे पर हादसे में एम्‍स के तीन डॉक्‍टरों की मौत, चार अन्य घायल

मृतकों की पहचान महिला डॉक्टर यशप्रीत कठपाल(25), डॉक्टर हेमबाला( करीब25 वर्ष) और डॉक्टर हर्षद वानखडे(35) के रूप में की गयी है। हादसे में घायल हुए डॉक्टर जितेन्द्र, डॉक्टर महेश, डॉक्टर अभिनव और महिला डॉक्टर कैथरीन निजी अस्पातल के बाद एम्स ले रेफर कर दिया गया।

यह टक्कर इतनी जोरदार थी कि एसयूवी का गेट भी अलग होकर साइड में गिर गया।

यमुना एक्सप्रेस-वे पर शनिवार देर रात मथुरा के नजदीक हुये एक सड़क हादसे में दो महिला डॉक्टर समेत एम्स के तीन डॉक्टरों की मौत हो गयी है। हादसे में इसी संस्थान के चार अन्य डॉक्टर घायल हो गये हैं। इस मामले पर पुलिस ने बात करते हुए बताया कि एम्स के आपात चिकित्सा विभाग में तैनात सात रेसिडेंट डॉक्टर, डॉक्टर हर्षद वानखडे का जन्मदिन मनाने के लिए एक एसयूवी में सवार होकर दिल्ली से आगरा जा रहे थे। रास्ते में उनकी गाड़ी देर रात करीब ढाई बजे एक कैंटर से टकरा गई। यह टक्कर इतनी जोरदार थी कि एसयूवी का गेट भी अलग होकर साइड में गिर गया।  हादसे में डॉक्टर हर्षद वानखडे की भी मौत हो गयी।

पुलिस अधीक्षक( ग्रामीण) आदित्य कुमार शुक्ला ने बताया कि तीन डॉक्टरों की घटनास्थल पर ही मौत हो गयी जबकि चार अन्य को यहां के एक निजी अस्पताल ले जाया गया। इसके बाद उन्हें एम्स के ट्रॉमा सेन्टर रेफर कर दिया गया। शुक्ला  ने बताया कि तेज रफ्तार एसयूवी कैंटर से टकराते हुए उसमें जा घुस गई। उन्होंने बताया कि तीन की घटनास्थल पर ही मौत हो गयी। मृतकों की पहचान महिला डॉक्टर यशप्रीत कठपाल(25), डॉक्टर हेमबाला( करीब25 वर्ष) और डॉक्टर हर्षद वानखडे(35) के रूप में की गयी है।

HOT DEALS
  • Apple iPhone 6 32 GB Space Grey
    ₹ 24790 MRP ₹ 30780 -19%
    ₹4000 Cashback
  • Lenovo Phab 2 Plus 32GB Champagne Gold
    ₹ 17999 MRP ₹ 17999 -0%
    ₹0 Cashback

शुक्ला के मुताबिक, इस हादसे में घायल हुए डॉक्टर जितेन्द्र, डॉक्टर महेश, डॉक्टर अभिनव और महिला डॉक्टर कैथरीन निजी अस्पातल के बाद एम्स ले रेफर कर दिया गया। एम्स के डॉक्टरों के मुताबिक सभी घायलों की हालत स्थिर है। उन्होंने बताया कि एक डॉक्टर के चेहरे और कूल्हों में चोट आयी है। एक अन्य डॉक्टर की एक कलाई टूट गयी है। दो अन्य रेसिडेंट डॉक्टरों को मामूली सी चोटें आयी हैं। इस मामले की जानकारी देते हुए एसपी ने बताया कि 100 नंबर के जरिए पुलिस को सूचना मिलने के बाद तत्काल मदद मुहैया कराई गई। पुलिस अधिकारी ने बताया कि कैंटर चालक अपना वाहन छोड़ कर फरार हो गया। फिलहाल इस मामले में जांच की जा रही है और पुलिस कैंटर चालक की तलाश में जुट गई है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App