ताज़ा खबर
 

पुलिसवाले को धमकाते कैमरे में कैद हुए बीजेपी नेता! वीडियो हुआ वायरल, एसपी बोले- जांच कराएंगे

उत्तर प्रदेश के बरेली में एक वीडियो वायरल हुआ है जिसमें यह दिख रहा है कि भाजपा नेता इस्पेक्टर को कह रहे हैं कि इस्पेक्टर साहब! एक बात सुन लो। थोड़ा यहां हिंदुओं का ध्यान रख लो।

भाजपा नेता कमलदत्त शर्मा (Photo: facebook.com/kamalduttsharma.youthbrigade?ref=br_rs )

उत्तर प्रदेश के बरेली से एक वीडियो वायरल हुआ है। इस वीडियो में एक भाजपा नेता सार्वजनिक तौर पर इंस्पेक्टर को इशारों में धमकाते दिख रहे हैं। अपनी दबंगई दिखा रहे हैं। वीडियो में दिख रहे भाजपा नेता का नाम कमलदत्त शर्मा हैं। वे वीडियो में इंस्पेक्टर को कहते देखे जा रहे हैं, “…इस्पेक्टर साहब! एक बात सुन लो। थोड़ा यहां हिंदुओं का ध्यान रख लो।” दरअसल, कुछ दिन पहले सदर बाजार इलाके में एक घटना हुई थी, जिसके बाद पुलिस ने कुछ लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया था। उसी मुकदमे को खत्म करवाने के लिए भाजपा नेता थाने पहुंचे थे। थाने में भाजपा नेता, उनके समर्थक और इंस्पेक्टर के बीच हुई बातचीत का वीडियो तेजी से सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। हालांकि, यह वीडियो कब का है, इसकी जानकारी नहीं है।

वीडियो में भाजपा नेता अपने समर्थकों से कह रहे हैं, “…मेरी बात सुनो ध्यान से। आपने कोई बात इनसे कही? अगर नहीं करते हैं ये, कोई बात नहीं। भाई इन्होंने थाने तक बुलाया है न हमें। ये भुगतेंगे फिर उस बात को। मुकदमा खत्म हो जाएगा।” इसके बाद वे कह रहे हैं, “…एक बार आपसे नमस्ते हो गई, भाई इंस्पेक्टर साहब से हाथ मिला लिया मैंने। इसी बात से खुश हो जाते हैं। पुलिस से मेरा कोई मतलब नहीं है। मेरा मतलब आपकी किसी लड़ाई को भी लड़ लूंगा मैं।” वीडियो में वे इंस्पेक्टर से कहते सुने जा रहे हैं, “…मैं आपके संवेदनहीनता की बात कर रहा हूं। …इस्पेक्टर साहब! एक बात सुन लो। थोड़ा यहां हिंदुओं का ध्यान रख लो।”

वीडियो वायरल होने पर एसपी ने मामले की जांच कराने की बात कही है। मेरठ एसपी रणविजय सिंह ने कहा, “मीडिया के माध्यम से मुझे एक वायरल वीडियो के बारे में जानकारी मिली है। उस वीडियो में यह दिख रहा है कि कुछ लोग थाने पर गए हैं। हम यह जांच करेंगे कि वे किस राजनीतिक संगठन से संबंधित हैं। जब भी कोई जनप्रतिनिधि कहीं जाता है तो इस तरह की बातें अमूमन आपस में लोग करते हैं। वे अपने समर्थकों के लिए ऐसी बातें करते हैं। उसी संदर्भ वे कहते दिख रहे हैं। प्रारंभिक तौर पर देखने से यह पता चल रहा है कि उन्होंने ये बातें उसी संदर्भ में कही है। इसमें कोई ऐसी बात नहीं है, जो आपत्तिजनक हो। हालांकि, हम एसएचओ से भी बात करेंगे क्योंकि आजकल कई सारी बातों को तोड़-मरोड़कर पेश किया जा रहा है। पहले मैं जांच करूंगा और जब लगेगा कि ऐसा कुछ है तो उसके हिसाब से आगे देखा जाएगा।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App