ताज़ा खबर
 

सहारनपुर: माहौल बिगाड़ने की फिर हुई कोशिश, प्रशासन ने लोगों को समझा-बुझाकर किया शांत

माहौल खराब करने के मकसद से अज्ञात लोगों ने मंगलवार की रात शब्बीरपुर गांव में एक मंदिर की काली देवी मां की मूर्ति को खंडित कर दिया।

Author सहारनपुर | June 1, 2017 3:59 AM
(प्रतिकात्मक तस्वीर)

हिंसा ग्रस्त सहारनपुर जिले का माहौल तेजी के साथ अमन की ओर लौट रहा है लेकिन असामाजिक तत्व अपनी खुराफातों से बाज नहीं आ रहे हैं। माहौल खराब करने के मकसद से अज्ञात लोगों ने मंगलवार की रात शब्बीरपुर गांव में एक मंदिर की काली देवी मां की मूर्ति को खंडित कर दिया। इससे क्षेत्र में एक बार फिर से तनाव फैल गया। लोगों के गुस्से को देखते हुए पुलिस प्रशासनिक अधिकारी मौके पर पहुंचे और समझा-बुझाकर उन्हें शांत कराया। घटना का पता तब चला जब महिलाएं प्रात:काल मंदिर में पूजा के लिए पहुंची, जिससे युवकों में रोष फैल गया। सूचना मिलने पर एसपी देहात विद्यासागर मिश्र पुलिस बल के साथ गांव पहुंचे। उन्होंने गुस्साए लोगों को भरोसा दिया कि पुलिस खुराफातियों का पता लगाकर कार्रवाई करेगी।

उधर, सहारनपुर नगर में स्थित आंबेडकर स्पोर्ट्स स्टेडियम में लगी डा. भीमराव आंबेडकर की प्रतिमा पर आपत्तिजनक भाषा में लिखा एक पर्चा चिपका दिया। इससे लोगों में हड़कंप मच गया। एसपी सिटी प्रबल प्रताप सिंह ने मौके पर पहुंचकर स्थिति को संभाला। ध्यान रहे कि रविवार को गांव सिंभालका जुनारदार में असामाजिक तत्वों ने रविदास मंदिर से शिवलिंग गायब कर दिया था। सोमवार को देहरादून रोड पर रिमाउंट डिपो के पास स्थित पीर की मजार को क्षतिग्रस्त कर दिया गया था। पुलिस ने उसकी रात में ही मरम्मत कराकर स्थिति को बिगड़ने से बचाया। एसएसपी बबलू कुमार का कहना था कि लगता है कि जिले में असामाजिक तत्व स्थिति को योजनाबद्ध तरीके से बिगाड़ने के लगातार प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने स्थानीय सूचना तंत्र और दूसरी खुफिया एजंसियों को साजिश का पता लगाने की जिम्मेदारी सौंपी है। एसएसपी ने कहा कि पुलिस पूरे जिले में पूरी तरह से सतर्क है।और स्थिति पर करीबी नजर रखे हुए हैं। उनका कहना था कि हम फिर से जिले का माहौल नहीं बिगड़ने देंगे।

HOT DEALS
  • Sony Xperia XA Dual 16 GB (White)
    ₹ 15940 MRP ₹ 18990 -16%
    ₹1594 Cashback
  • Honor 7X 64 GB Blue
    ₹ 16699 MRP ₹ 16999 -2%
    ₹0 Cashback

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App