scorecardresearch

ज्ञानवापी केस: शिवलिंग और फाउंटेन विवाद पर बोलीं सुषमा सिंह, अखिलेश बौखला गए हैं, ट्रीटमेंट करा लें, जो दिख रहा है वो भी नहीं बोलते हैं

ज्ञानवापी मस्जिद में शिवलिंग और फाउंटेन के विवाद के बीच उत्तर प्रदेश की राज्य महिला आयोग की उपाध्यक्ष सुषमा सिंह ने दावा किया कि वहां मंदिर था, है और हमेशा रहेगा।

Gyanvapi masjid|Shivlinga in Gyanvapi Masjid|ज्ञानवापी मस्जिद
सपा प्रमुख अखिलेश यादव (Express photo by Vishal Srivastav/File)

ज्ञानवापी मस्जिद में शिवलिंग और फाउंटेन को लेकर चल रहे विवाद के बीच उत्तर प्रदेश की राज्य महिला आयोग की उपाध्यक्ष सुषमा सिंह ने दावा किया है कि वहां, मंदिर है और हमेशा मंदिर ही रहेगा। साथ ही, उन्होंने समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव पर भी हमला बोला है। उन्होंने कहा कि अखिलेश बौखला गए हैं उनको अपना इलाज करवाना चाहिए। जो चीज दिख रही है वो तो बोलो।

उन्होंने कहा, “अखिलेश यादव जब से चुनाव हारे हैं, वे नतीजों को देखकर बौखला गए हैं एक बार वे अपना ट्रीटमेंट करवा लें और जो आंखों से देख रहे हैं, उसको बोलना भी सीखें।”

उन्होंने कहा, “ऐसी हमारी बहुत सारी जगह हैं, जहां जब-जब ये दावे किए गए और खुदाई की गई, वहां नाग देवता खुद प्रकट हो गए और शिवलिंग ही निकले थे और हमारे मंदिरों में जो मूर्तियां होती हैं वही निकली थीं। जो चीज वहां निकली है उसकी रिसर्च करवाईए और जब तक रिसर्च का माध्यम सुलझता नहीं है, तब तक क्यों अफवाह फैला रहे हैं। क्यों इस तरह का माहौल पैदा कर रहे हैं कि नकारात्मक स्थिति बने। वहां मंदिर है, मंदिर था और मंदिर ही रहेगा।”

उन्होंने कहा कि हम जो सैकड़ों साल पहले दावा करते थे आज शिवलिंग दिख गए हैं। एक पक्ष है जो कभी हिंदू थे ही नहीं और हमारे देश में आकर हिंदू बनने की कोशिश करते हैं और वोट बैंक की राजनीति करते हैं। तो उनके पास कोई मुद्दा है नहीं। विकास, महिलाओं की सुरक्षा और लाइन ऑर्डर कोई भी मुद्दा उनके पास नहीं बचा है। तो कुछ भी नया होगा तो उनको मुद्दा बनाना ही है।

गौरतलब है कि ज्ञानवापी मस्जिद का तीन दिन का सर्वे खत्म हो चुका है और सर्वे को लेकर हिंदू पक्ष का दावा है कि वहां, शिवलिंग मौजूद है। वहीं, मुस्लिम पक्ष इसे फाउंटेन बता रहा है। जिस जगह को लेकर शिवलिंग और फाउंटेन का दावा किया जा रहा है, वो जगह मस्जिद का वजूखाना है। हालांकि, कोर्ट ने इस क्षेत्र को सील करने के निर्देश दिए हैं।

पढें उत्तर प्रदेश (Uttarpradesh News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट