scorecardresearch

बच्चियों को कंट्रोल में रखने के लिए हिजाब जरूरी, अजान तो 3-4 मिनट में हो जाती है, अखंड रामायण तो कई घंटे चलती है, बोले सपा सांसद

सपा सांसद शफीकुर्रहमान बर्क अक्सर अपने विवादित बयानों के कारण चर्चा में रहते हैं। इस बार उन्होंने हिजाब को लेकर आपत्तिजनक बयान दिया है।

shafiqur rahman Barq
सपा सांसद शफीकुर्रहमान बर्क (सोर्स- @ANI)

समाजवादी पार्टी के सांसद शफीकुर्रहमान बर्क एक बार फिर अपने विवादित बयानों के कारण सुर्खियों में हैं। सपा सांसद ने हिजाब को लेकर बेतुका बयान दिया और कहा कि बच्चियां बड़ी होने लगती हैं तो उनको कंट्रोल में रखने के लिए हिजाब जरूरी है। हिजाब विवाद पर प्रतिक्रिया देते हुए शफीकुर्रहमान बर्क ने ये बातें कहीं। इतना ही नहीं, शफीकुर्रहमान बर्क ने अजान और अखंड रामायण की तुलना भी कर दी।

शफीकुर्रहमान बर्क ने कहा कि इस्लाम कहता है कि जब बच्ची बड़ी होनी लगे, जवान होने लगे तो उसे हिजाब में रहना चाहिए। उन्होंने कहा कि हिजाब इसलिए भी जरूरी है कि बच्चियां कंट्रोल में रहे जिससे हालात भी संभले रहेंगे। सपा सांसद ने आगे कहा कि हिजाब पहनने से दूसरे लोग उन पर बुरी नजर नहीं डाल सकेंगे।

दिल्ली में मीडिया से बात करते हुए लाउडस्पीकर के मुद्दे पर शफीकुर्रहमान बर्क ने कहा, “अजान 3-4 मिनट के अंदर खत्म होती है, इसपर किसी को क्या ऐतराज हो रहा है। जबकि अखंड रामायण कई घंटे होता है तो उसको नहीं कहा जा रहा है कि (ध्वनि) प्रदूषण हो रहा है। लेकिन जो अजान 3-4 मिनट में खत्म हो जाती है उससे ध्वनि प्रदूषण की बात कर रहे हैं, तो ये नफरत की पॉलिसी है।” महाराष्ट्र और कर्नाटक में मस्जिदों में लगे लाउडस्पीकरों को बंद करने की मांग उठ रही है और इसको लेकर सियासत गरमाई हुई है।

भाजपा की जीत का जश्न मनाने वाले बाबर की हत्या को ठहराया था सही

ये पहली दफा नहीं है जब किसी मुद्दे को लेकर शफीकुर्रहमान बर्क ने विवादित बयानबाजी की है। इसके पहले, उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में भाजपा की जीत का जश्न मनाने वाले मुस्लिम युवक बाबर की हत्या को समाजवादी पार्टी के सांसद ने सही ठहराया था।

शफीकुर्रहमान बर्क ने कहा था कि मुसलमान नहीं चाहते कि भाजपा का समर्थन किया जाए। उन्होंने कहा कि भाजपा में मुसलमानों के साथ गलत हो रहा है। सपा सांसद ने जब पूछा गया कि क्या बाबर ने लड्डू बांटकर गलत किया था? इस पर शफीकुर्रहमान बर्क ने कहा कि, “हां, वह गलत कर रहा था।”

पढें उत्तर प्रदेश (Uttarpradesh News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट