ताज़ा खबर
 

अमर सिंह ने आजम खान को बताया ‘राक्षस’, अखिलेश को बताया ‘नमाजवादी’ पार्टी का अध्यक्ष

पूर्व सपा नेता ने शुक्रवार (24 अगस्त) को फेसबुक पर एक वीडियो पोस्ट किया था। उसमें वह बोले, "तुम विष्णु का मंदिर बनाओगे? नमाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश। यह समाजवादी नहीं है। तुम्हारा पाला हुआ, पैदा किया हुआ राक्षस आजम खान हमारी बेटियों से तेजाब से नहलाने की बात करता है, हमें काटने की बात करता है।"

पूर्व सपा नेता अमर सिंह। (एक्सप्रेस फोटोः अमित मेहरा)

राज्यसभा सांसद अमर सिंह ने समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष अखिलेश यादव और नेता आजम खान पर बड़ा हमला बोला है। उन्होंने अखिलेश को नमाजवादी पार्टी का अध्यक्ष बताया है, जबकि आजम के लिए मुलायम-अखिलेश के राजनीतिक पुत्र और राक्षस शब्द का इस्तेमाल किया। सिंह ने एक वीडियो संदेश जारी कर दोनों ही नेताओं के खिलाफ आक्रामक तेवर दिखाए।

पूर्व सपा नेता ने शुक्रवार (24 अगस्त) को फेसबुक पर एक वीडियो पोस्ट किया था। उसमें वह बोले, “तुम विष्णु का मंदिर बनाओगे? नमाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश। यह समाजवादी नहीं है। तुम्हारा पाला हुआ, पैदा किया हुआ राक्षस आजम खान हमारी बेटियों से तेजाब से नहलाने की बात करता है, हमें काटने की बात करता है।”

सुनें कैसे सपा के दोनों नेताओं पर बरसे रास सांसद

सिंह ने आगे कहा, “मैं उत्तर प्रदेश और हिंदुस्तान के हिंदुओं से कहूंगा, मुझे अगर इसके लिए सांप्रदायिकता का तमगा भी मिलता है, तो बेशक मिले। अगर धर्मनिरपेक्षता का मतलब अपने स्वाभिमान से समझौता करना है, तो ऐसी धर्मनिरपेक्षता से मैं कान पकड़ता हूं। जो हमारे पीएम को आतंकी कहता है और खुले आम भारत मां को डायन कहता है, वह राक्षस है।”

पूर्व सपा नेता ने अपने वीडियो में सबसे पहले अखिलेश के परिवार पर किए गए अहसानों को गिनाते हुए निशाना साधा था। उन्होंने कहा था, “तुम्हारा और पिता का बनाया हुए राजीतिक पुत्र आजम खान कहता है कि अमर सिंह जैसे लोगों को काटना चाहिए। उनकी जवान बेटियों पर तेजाब फेंकना चाहिए। बेटियां, बहुएं और पत्नियां तुम्हारे यहां भी हैं। और यकीन न हो तो तुम साधना जी (मुलायम की पत्नी) से पूछ लेना।”

बकौल सिंह, “तुम्हारे भाई विवेक और पत्नी वंदना झगड़े के बाद साधना जी के कहने पर हमारे पास आए थीं। बरसों से पड़े जेल में सिसकियां ले रहे थे। वकील से अदालत तक उनकी मदद की। तुम्हारे घर की रोती बहुओं के आंसू पोछें, जबकि तुम और तुम्हारा परिवार तुम लोगों की राजनीति के कारण जेल में बंद थे, तो हमारे बच्चों के आंसू पोछने कोई न आया।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App