शिवपाल यादव का आरोप, केंद्रीय गृह राज्यमंत्री और उनका बेटा ही लखीमपुर खीरी हिंसा के दोषी

यादव मंगलवार को वृन्दावन से सामाजिक परिवर्तन रथ यात्रा की शुरुआत करने पहुंचे थे। उन्होंने समान विचारधारा के लोगों एवं धर्मनिरपेक्ष दलों से अपील की कि वे सत्ता परिवर्तन का नारा दें और सत्ता परिवर्तन में सहयोग करें।

शिवपाल यादव। फोटो- एक्सप्रेस

प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (प्रसपा) अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि लखीमपुर हिंसा के पीछे केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्र का ही हाथ है और वह तथा उनका बेटा ही किसानों के दोषी हैं। यादव ने कहा कि केंद्रीय गृह मंत्री भी इस मामले में किसानों को न्याय दिलाने में असफल रहे हैं। इसलिए न मिश्र को और न ही अमित शाह को पद पर रहने का अधिकार है और उन्हें तुरंत इस्तीफा दे देना चाहिए।

सामाजिक परिवर्तन यात्रा के माध्यम से अगले वर्ष होने वाले विधानसभा चुनाव की शुरुआत करते हुए यादव ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नीत केंद्र और राज्य सरकार पर आरोप लगाया कि दोनों ने जनता से किया गया एक भी वादा पूरा नहीं किया।

शिवपाल ने कहा, “पिछले दस महीने से मौसम की परवाह किए बिना किसान दिल्ली सीमा पर आंदोलनरत हैं, जिसमें 500 से अधिक किसानों की जानें जा चुकी हैं लेकिन इन सरकारों को न तो किसानों-मजदूरों की चिंता है और न समाज के किसी अन्य वर्ग की। मंहगाई चरम पर है। आम आदमी का जीवन जीना दूभर हो गया है। फिर भी अंधी-बहरी सरकार ध्यान नहीं दे रही है।”

यादव मंगलवार को वृन्दावन से सामाजिक परिवर्तन रथ यात्रा की शुरुआत करने पहुंचे थे। उन्होंने समान विचारधारा के लोगों एवं धर्मनिरपेक्ष दलों से अपील की कि वे सत्ता परिवर्तन का नारा दें और सत्ता परिवर्तन में सहयोग करें। गौरतलब है कि समाजवादी पार्टी अध्यक्ष एवं शिवपाल यादव के भतीजे अखिलेश यादव भी विजय रथ यात्रा शुरू कर चुके हैं।

शिवपाल की पार्टी से गठबंधन के सवाल पर क्या बोले अखिलेश?
हमीरपुर में अखिलेश यादव से जब शिवपाल की पार्टी के साथ गठबंधन पर सवाल किया गया तो उन्होंने गोलमोल जवाब देते हुए कहा कि वह भी भाजपा को हराने के लिए रथ लेकर निकल पड़े हैं। उन्होंने कहा कि चाचा शिवपाल का पूरा सम्मान किया जाएगा। हालांकि गठबंधन को लेकर उन्होंने कुछ भी नहीं कहा।

पढें उत्तर प्रदेश समाचार (Uttarpradesh News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट