ओवैसी, राजभर से मिलने के बाद शिवपाल ने अखिलेश को दिया अल्टिमेटम, बोले- विरोध में उतार दूंगा प्रत्याशी

शिवपाल यादव ने कहा कि उन्होंने अखिलेश यादव से बात करने के कई प्रयास कर लिए हैं। उन्होंने कहा कि 11 अक्टूबर तक अगर कोई प्रतिक्रिया नहीं मिलती है तो वह अपने कैंडिडेट चुनाव में उतार देंगे।

अखिलेश और शिवपाल का फाइल फोटो। क्रेडिट- आर्काइव

उत्तर प्रदेश में जैसे-जैसे विधानसभा चुनाव करीब आ रहे हैं, गठबंधन को लेकर प्रयास उतने ही तेज हो रहे हैं। हालांकि अभी यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) के चीफ सपा के साथ मिलकर चुनाव लड़ेंगे या फिर वह चुनाव में भतीजे के विरोधी के रूप में उतरेंगे। बार-बार संवाद का प्रयास किए जाने के बाद भी जब अखिलेश की तरफ से प्रतिक्रिया नहीं मिली तो शिवपाल ने उन्हें सीधी चेतावनी दे दी है। उन्होंने कहा है कि 11 अक्टूबर तक वह गठबंधन फाइनल कर देंगे और ज्यादा से ज्यादा सीटों पर अपने कैंडिडेट उतार देंगे।

शिवपाल यादव ने यह बात असदुद्दीन ओवैसी औऱ ओमप्रकाश राजभर से मुलाकात के बाद कही है। उन्होंने IANS से कहा कि वह 11 अक्टूबर तक इंतजार करेंगे। अगर अखिलेश यादव का कोई रिस्पॉन्स आता है तो ठीक है, वरना वह दूसरी पार्टियों के साथ गठबंधन करके अपने उम्मीदवार चुनावी मैदान में उतारेंगे।

उन्होंने कहा, ‘हमने समाजवादी पार्टी के साथ तालमेल बैठाने का हर संभव प्रयास कर लिया है।’ शिवपाल ने कहा कि 12 अक्टूबर को वह वृंदावन से यात्रा की शुरुआत करेंगे और राज्य के 75 जिलों में जाएंगे। जानकारी के मुताबिक ओवैसी और राजभर ने शिवपाल यादव से भागीदारी संकल्प मोर्चा में शामिल होने की अपील की थी। यह छोटी-छोटी पार्टियों का एक नया मोर्चा है।

बता दें कि शिवपाल पहले भी कह चुके हैं कि वह सपा में अपनी पार्टी का विलय करने को भी तैयार हैं लेकिन कवायद दूसरी तरफ से शुरू होनी चाहिए। एक कार्यक्रम के दौरान उन्होंने कहा था कि पिछले चार साल में उनकी अखिलेश यादव से केवल एक बार फोन पर बात हुई है। इसके अलावा उनके बीच कभी बात भी नहीं हुई।

चुनाव करीब आने के बावजूद अखिलेश य़ादव ने एक बार भी चाचा शिवपाल से मिलने और बात करने की कोशिश नहीं की। यहां तक की इधर से प्रस्ताव भेजा गया तो कोई जवाब नहीं दिया गया। ऐसे में अब उन्होंने कहा है कि 11 अक्टूबर के बाद प्रदेश की 403 सीटों पर प्रत्याशी उतारने पर विचार किया जाएगा।

पढें उत्तर प्रदेश समाचार (Uttarpradesh News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट