X

शिया वक्‍फ बोर्ड के अध्‍यक्ष का दावा- मैंने सपने में भगवान श्रीराम को रोते हुए देखा

वसीम रिजवी इससे पहले अयोध्या में राम जन्मभूमि कार्यशाला पहुंचे थे, जहां मंदिर के लिए पत्थरों को तराशने का काम चल रहा है। रिजवी ने यहां पत्थर तराशने के लिए 10 हजार रुपये का चंदा भी दिया था।

यूपी में शिया वक्फ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिजवी ने एक बार फिर से अयोध्या की विवादित भूमि पर राम मंदिर बनाने की बात दोहराई है। इस बार ​वसीम रिजवी ने दावा किया कि उनके सपने में भगवान राम खुद रोते हुए दिखाई दिए। वसीम रिजवी के मुताबिक भगवान राम अयोध्या में उनकी जन्मभूमि पर मंदिर की हालत पर रो रहे हैं।

वसीम रिजवी ने कहा कि भारत के कट्टरपंथी मुसलमान पाकिस्तान के झंडे को इस्लाम का झंडा बता कर, उससे मोहब्बत करना अपना ईमान समझते हैं। इतना ही नहीं ये लोग श्रीराम जन्मभूमि पर अपना बाबरी पंजा जमाए हुए हैं। रिजवी ने आगे कहा कि अयोध्या भगवान श्रीराम का जन्मस्थान है। रिजवी ने मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड पर आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा कि पाकिस्तान से पैसे लेकर कांग्रेस की मदद से श्रीराम जन्मभूमि का मुद्दा अदालतों में उलझाए हुए है।

वसीम रिजवी ने शेर पढ़ते हुए कट्टरपंथी मौलानाओं पर तंज किया और कहा,’ मौलवी के हर अमल का फिक्स अपना रेट है। कैसी टोपी, कैसी दाढ़ी सबका अपना पेट है।’ रिजवी ने कहा कि अयोध्या में भगवान राम के मंदिर के निर्माण का फैसला अब जल्द हो जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि राम भक्तों के साथ-साथ लगता है कि अब इस मामले में खुद भगवान राम भी उदास हो गए हैं।

बता दें कि वसीम रिजवी इससे पहले अयोध्या में राम जन्मभूमि कार्यशाला पहुंचे थे, जहां मंदिर के लिए पत्थरों को तराशने का काम चल रहा है। रिजवी ने यहां पत्थर तराशने के लिए 10 हजार रुपये का चंदा भी दिया था। साथ ही कहा था कि जरूरत हो तो मंदिर निर्माण के लिए अध्यादेश लाया जाए। वसीम रिजवी भगवान राम को अपना पूर्वज और इमाम ए हिंद भी करार दे चुके हैं।

  • Tags: Ram Mandir, Uttar Pradesh News,