ताज़ा खबर
 

सहारनपुर हिंसा के बाद 180 दलित परिवारों ने अपनाया बौद्ध धर्म, पुलिस की कार्रवाई से थे नाराज

उतर प्रदेश के सहारनपुर जिले में पुलिस द्वारा की गई कार्रवाई का विरोध करते हुए तीन गांवों के दलितों के कथित रूप से धर्म परिवर्तन कर बौद्ध धर्म अपना लेने की सूचना है।

Author May 20, 2017 2:02 PM
सहारनपुर में महाराणा प्रताप के कार्यक्रम पर बवाल हुआ था (PTI photo)

उतर प्रदेश के सहारनपुर जिले में पिछले दिनों शब्बीरपुर प्रकरण के बाद भीम आर्मी पर पुलिस द्वारा की गई कार्रवाई का विरोध करते हुए तीन गांवों के दलितों के गुरूवार (18 मई) को शाम को कथित रूप से धर्म परिवर्तन कर बौद्ध धर्म अपना लेने की सूचना है। जिले के ग्राम रूपडी, ईधरी और कपूरपुर के 180 परिवारों ने मूर्ति पूजा त्यागते हुए बौद्ध धर्म अपनाने की घोषणा की है। इन दलितों का आरोप है कि सहारनपुर पुलिस, प्रशासन दलितों का उत्पीड़न कर रहा है और दलितों के नेता चन्द्रशेखर के खिलाफ साजिश के तहत दलितों पर निशाना साधा जा रहा है।

सहारनपुर के डीआईजी जेके साही का कहना है कि यह किसी भी व्यक्ति का निजी मामला है। सहारनपुर में हुई हिंसा में किसी निर्दोष पर कार्रवाई नहीं होगी, लेकिन जांच के बाद दोषी के विरूद्ध कार्रवाई अवश्य की जायेगी। उधर, सहारनपुर के एसएसपी सुभाष चंद दूबे का कहना है कि सहारनपुर मे लोगों के धर्मपरिवर्तन के बारे में उनके पास कोई सूचना नहीं है और यह सबका अपना व्यक्तिगत मामला है कि कौन किसकी पूजा करता है और किसे मानता है।

पिछले कुछ महीनों में सराहनपुर से हिंसा की काफी खबरें आई। 20 अप्रैल को वहां अंबेडकर जयंती के दिन विवाद हुआ था। इसके बाद पांच मई को महाराणा प्रताप के नाम पर एक जुलूस निकाला जा रहा था जिसपर विवाद हुआ। उसमें ठाकुर जाति के एक शख्स की मौत हो गई थी और कुछ दलित लोगों के घर फूंके जाने की भी खबर थी। फिर 9 मई को दलितों का एक समूह महापंचायत करना चाहता था जिसे पुलिस ने रोका। इसपर पथराव हुआ और कुछ पुलिसवाले जख्मी हो गए।

इस घटना से बाद से भीम आर्मी के काफी लोग घर से भागे हुए हैं क्योंकि उनके ऊपर कई सारे मामले दर्ज करवाए जा चुके हैं। दलित लोग इसे सोची-समझी साजिश करार दे रहे हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App