ताज़ा खबर
 

कैमरे पर चेले की हत्या की साजिश रचती दिखीं साध्वी! वीडियो हुआ वायरल

सोशल मीडिया पर एक जैन साध्वी का वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें वह कथित तौर पर अपने चेले की हत्या की बात करती देखी जा रही हैं।

Author February 4, 2019 10:07 PM
तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है। (फोटोः Pixabay)

सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ है, जिसमें एक जैन साध्वी कथित रूप से अपने चेले की हत्या की साजिश रचती दिख रही हैं। मामला जमीन विवाद से जुड़ा हुआ बताया जा रहा है। यह वीडियो कथित तौर पर उत्तर प्रदेश के बागपत स्थित आश्रम में रिकॉर्ड किया गया है। वीडियो में दिखाया गया है कि साध्वी कथित तौर पर उस चेले की हत्या की साजिश रच रही हैं। वह एक आदमी से बात कर रही हैं और उस समय के बारे में बात कर रही है जब चेले ‘पारस’ की हत्या की जाएगी। पुलिस ने वायरल वीडियो को लेकर मामले की जांच शुरू कर दी है।

वीडियो में यह देखा और सुना जा सकता है कि कब मर्डर करना है। साध्वी के अलावा वहां मौजूद एक व्यक्ति पूछता है कि कब मर्डर करना है। दोनों के बीच 26 तारीख को मर्डर करने की बात की जा रही है। इसके बाद व्यक्ति कहता है, “मर्डर के बाद तो जमीन उसके (चेले) के परिवार के पास चली जाएगी।” इसके जवाब में साध्वी कहती हैं, “नहीं, ऐसा नहीं होगा। ट्रस्ट का पैसा लगा है। जमीन ट्रस्ट के नाम हो जाएगी।” बातचीत के दौरान हत्या के लिए सुपारी और रकम ट्रस्ट के नाम पर देने की भी चर्चा की गई।

वीडियो वायरल होने के बाद जैन समाज के लोग हैरान हैं। सन्मति धर्मयोग समिति ने इसकी सूचना पुलिस को दी और आग्रह किया कि इस मामले की पूरी सच्चाई सामने लायी जाए। समिति के अध्यक्ष श्रेयांश जैन ने पुलिस अधिकारी से मामले में हस्तक्षेप कर उचित कार्रवाई करने का आग्रह किया है। उन्होंने कहा, “इस घटना से समाज की बदनामी हो रही है। सच्चाई सामने लाकर दोषी के खिलाफ कार्रवाई की जाए।” वहीं, समाज के कुछ लोग दोनों पक्षों के बीच समझौता कराने की भी कोशिश में लगे हैं।

दरअसल, जैन साध्वी मंदिर में ही रहती हैं। जिस चेले ‘पारस’ की हत्या की बात हो रही है, वह मंदिर की संपत्ति में हिस्सेदार है। उसे कुछ समय पहले साध्वी ने मंदिर से निकलवा दिया था। उस चेले के नाम पर कुछ चल और अचल संपत्ति भी है। समिति के अध्यक्ष ने अपनी शिकायत में यह भी आरोप लगाया कि जैन साध्वी के ग्रुप में बड़े पहुंच वाले लोग हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App