ताज़ा खबर
 

राज्यसभा चुनाव 2018: पार्टी प्रमुख संग रात्रिभोज खाया, बेटे का फोटो रख कसम खाई, फिर भी इस विधायक ने की क्रॉस वोटिंग

Rajya Sabha Election 2018 ( राज्यसभा चुनाव 2018): अपुष्ट सूत्रों के मुताबिक बसपा प्रत्याशी भीमराव अंबेडकर के पक्ष में मतदान कराने के लिए पार्टी नेताओं ने अनिल कुमार सिंह को उनके बेटे का फोटो दिखवाकर कसम भी खिलवाई थी, बावजूद इसके अनिल कुमार सिंह ने बीजेपी उम्मीदवार को वोट दिया ।

क्रॉस वोटिंग करने वालों में बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के विधायक अनिल कुमार सिंह का नाम सबसे आगे चल रहा है। सिंह उन्नाव से विधायक हैं।

उत्तर प्रदेश की 10 राज्यसभा सीटों के लिए आज (23 मार्च को) वोटिंग हुई। इसमें क्रॉस वोटिंग का भी खेल होने की बात कही जा रही है। क्रॉस वोटिंग करने वालों में बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के विधायक अनिल कुमार सिंह का नाम सबसे आगे चल रहा है। सिंह उन्नाव से विधायक हैं। उन्होंने वोट करने के बाद खुलकर अपनी बगावत का एलान करते हुए कहा कि उन्होंने बीजेपी उम्मीदवार को वोट दिया है। बता दें कि इससे पहले अनिल कुमार सिंह ने गुरुवार की रात मायावती के घर पर आयोजित रात्रिभोज में हिस्सा लिया था। कहा जा रहा है कि बसपा के भोज के बाद अनिल कुमार सिंह योगी आदित्यनाथ के भी भोज में शामिल हुए थे।

एनडीटीवी के अपुष्ट सूत्रों के मुताबिक बसपा प्रत्याशी भीमराव अंबेडकर के पक्ष में मतदान कराने के लिए पार्टी नेताओं ने अनिल कुमार सिंह को उनके बेटे का फोटो दिखवाकर कसम भी खिलवाई थी, बावजूद इसके अनिल कुमार सिंह ने बीजेपी उम्मीदवार को वोट दिया । शुक्रवार सुबह जब सिंह विधान सभा पहुंचे तभी उन्होंने बगावती अदा दिखानी शुरू कर दी थी। वोट देकर जैसे ही वो विधान सबा से बाहर आए, उन्होंने कहा कि वो महाराज जी यानी योगी आदित्यनाथ के साथ हैं। उन्होंने बीजेपी को वोट दिया है। जब पत्रकारों ने उनसे पूछा कि आप मायावती से नाराज क्यों हैं तो उन्होंने कहा कि वो नाराज नहीं हैं। उन्होने कहा कि राज्य के कल्याण के लिए काम करना है और इसके लिए हमलोगों को ईमानदार होना चाहिए।

HOT DEALS
  • Jivi Energy E12 8 GB (White)
    ₹ 2799 MRP ₹ 4899 -43%
    ₹0 Cashback
  • Honor 9 Lite 64GB Glacier Grey
    ₹ 16999 MRP ₹ 17999 -6%
    ₹2000 Cashback

बता दें कि बीजेपी ने बसपा के अनिल कुमार सिंह के अलावा सपा के नितिन अग्रवाल और निर्दलीय अमनमणि त्रिपाठी के अलावा राजा भैया और उनके नजदीकी विनोद सरोज पर भी निगाहें गड़ा रखी थीं। अनिल कुमार सिंह, नितिन अग्रवाल और अमनमणि त्रिपाठी का वोट बीजेपी को मिलने के दावे किए जा रहे हैं, जबकि राजा भैया ने पहले ही एलान कर दिया था कि वो अखिलेश को मदद करेंगे मगर मायावती को मदद नहीं करेंगे। कहा जा रहा है कि वोटिंग के बाद राजा भैया ने योगी आदित्यनाथ से भी मुलाकात है। ऐसे में उन्होंने किसे वोट दिया है, इस पर संशय बरकरार है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App