ताज़ा खबर
 

‘जहां कुशलता होती है वहां सम्मान होता है’, 2020 तक एक करोड़ युवाओं को उच्चस्तर का गुणवत्तापूर्ण प्रशिक्षण दिया जाएगा

जहां कुशलता होती है, वहां सम्मान अपने आप चला आता है। कौशल विकास किसी भी व्यक्ति के व्यक्तित्व को निखारने और उसको समाज की मुख्यधारा में लाने के लिए महत्त्वपूर्ण भूमिका अदा कर सकता है।

Author नई दिल्ली | October 24, 2017 3:19 AM
ग्रहमंत्री राजनाथ सिंह

देश में कौशल विकास के उद्देश्य से और उससे समाज के कमजोर वर्गों के युवाओं और महिलाओं को स्वालंबी बनाने के लिए सरकार ने 12 हजार करोड़ रुपए के बजट का प्रावधान किया गया है। जिससे लोग अपनी एक बेहतर आजीविका के साथ सुखद व सम्मानजनक जीवनयापन कर सके। यह जानकारी सोमवार को केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने नई दिल्ली के मंदिर मार्ग पर देश के पहले प्रधानमंत्री कौशल केंद्र के उद्घाटन समारोह में दी। यह प्रधानमंत्री कौशल केंद्र नई दिल्ली नगरपालिका परिषद् ने राष्टÑीय कौशल विकास निगम के सहयोग से स्थापित किया गया है। केंद्रीय गृहमंत्री ने कहा कि कुशलता से अपने आप सम्मान मिलता है। जहां कुशलता होती है, वहां सम्मान अपने आप चला आता है। कौशल विकास किसी भी व्यक्ति के व्यक्तित्व को निखारने और उसको समाज की मुख्यधारा में लाने के लिए महत्त्वपूर्ण भूमिका अदा कर सकता है। उन्होंने आगे कहा कि भारत में 65 फीसद जनसंख्या 35 साल से कम उम्र के युवाओं की है।

HOT DEALS
  • Apple iPhone 7 Plus 32 GB Black
    ₹ 59000 MRP ₹ 59000 -0%
    ₹0 Cashback
  • Apple iPhone 6 32 GB Space Grey
    ₹ 24890 MRP ₹ 30780 -19%
    ₹3750 Cashback

देश के आर्थिक विकास में अपना महत्त्वपूर्ण योगदान देने के लिए कौशल विकास से प्रेरित किया जा सकता है। अब इन युवाओं को आज के युग के ऐसे कौशलों में निपुण किया जाएगा, जो इनके भविष्य के लिए मददगार सिद्ध हो सकें। कौशल विकास मिशन के अंतर्गत 2020 तक देश के एक करोड़ युवाओं को उच्चस्तर की गुणवत्ता से परिपूर्ण प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा, जिसका सारा खर्च सरकार वहन करेगी। इस मौके पर केंद्रीय पट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस तथा कौशल विकास एवं उद्यम शीलता मंत्री, धमेंद्र प्रधान ने कहा कि उनका मंत्रालय नई दिल्ली क्षेत्र में यदि स्थान उपलब्ध हो तो इलेक्ट्रीकल और सोलर उपकरणों की देखरेख का प्रशिक्षण देने के लिए एक उत्कृष्ट केंद्र की स्थापना करना चाहता है। नई दिल्ली की सांसद मीनाक्षी लेखी ने कहा कि कौशल विकास से न केवल युवाओं में कार्यकुशलता आएगी अपितु उनके व्यक्तित्व का भी विकास होगा। परिषद के अध्यक्ष नरेश कुमार ने बताया कि नई दिल्ली क्षेत्र में केवल यही एक प्रधानमंत्री कौशल केंद्र नही है अपितु धर्म मार्ग पर एक विशेष प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना केंद्र की भी स्थापना की गई है। साथ ही मोती बाग में कौशल विकास का एक उत्कृष्ट केंद्र भी स्थापित किया जा रहा है। जिसमें भविष्य की जरूरतों के अनुरूप कौशल विकास के अत्याधुनिक पाठ्यक्रम चलाए जाएगें। जिनमें थ्री-डी प्रिटिंग, आॅटोमेशन और रोबोटिक्स आदि विषय शामिल होंगे।

केंद्रीय गृहमंत्री ने सोमवार को रिमोट से मोती बाग के चरक पालिका अस्पताल में बनाए गए डॉक्टर्स फ्लैट्स का उद्घाटन किया और मान सिंह रोड, आरके आश्रम मार्ग मेट्रो स्टेशन और आरएमएल अस्पताल के गेट पर स्मार्ट जनसुविधा परिसरों का लोकार्पण भी किया। इस अवसर पर परिषद के उपाध्यक्ष, करण सिंह तंवर ने कहा कि इन कौशल विकास कार्यक्रमों के माध्यम से नई दिल्ली क्षेत्र के अनपढ़, अल्पशिक्षित, शिक्षित एवं बेरोजगार युवाओं में रोजगार उन्मुख भविष्य के प्रति आशा का संचार होगा। विधायक एवं पालिका सदस्य सुरेंद्र सिंह, डॉ अनीता आर्या, अब्दुल राशिद अंसारी, बीएस भाटी, कौशल विकास एवं उद्यम शीलता मंत्रालय के संयुक्त सचिव, राजेश अग्रवाल, एनडीएमसी स्मार्ट सिटी लिमिटेड की सीईओ जुही मुखर्जी और परिषद के अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App