ताज़ा खबर
 

“योगी कुर्सी पर बिछने वाले तौलिए का रंग समझते हैं, लेकिन कुर्सी की जिम्‍मेदारी नहीं”

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को निशाने पर लेते हुए उन्होंने कहा कि मोदी ने पुर्तगाल के जंगल की आग के बारे में ट्वीट किया, लेकिन 70 बच्चों की मौत पर मौन हैं।
Author August 13, 2017 20:44 pm
उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष राज बब्बर। (फाइल फोटो)

उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष राज बब्बर ने गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कालेज अस्पताल में पांच दिनों में दर्जनों बच्चों की मौत मामले में योगी सरकार को घेरा और बच्चों की हत्यारी सरकार करार दिया। राज बब्बर ने कहा कि सरकार ने ही बच्चों की हत्या कराई है। बीआरडी मेडिकल कालेज अस्पताल में सरकार की लापरवाही से ऑक्सीजन की सप्लाई नहीं हुई, जिस वजह से लगभग 70 बच्चों की मौत हो गई। प्रदेश कांग्रेस दफ्तर में पत्रकारों से बातचीत में प्रदेश अध्यक्ष ने कहा, “यह कौन बताएगा कि उन मासूम बच्चों की हत्या हुई है या फिर मृत्यु। यह इसलिए भी शर्मनाक है, क्योंकि इस कांड से 48 घंटे पहले खुद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गोरखपुर में थे। वह इस मेडिकल कालेज में भी गए थे।”

उन्होंने कहा कि कि भाजपा सांसद साक्षी महाराज कहते हैं कि यह जनसंहार है। जब यह जनसंहार है तो क्यों न योगी सरकार पर हत्याओं का मुकदमा चलाया जाए?

राज बब्बर ने कहा कि प्रदेश सरकार न गाय की रक्षा कर पा रही है और न ही बच्चों की। उन्होंने मुख्यमंत्री पर कटाक्ष करते हुए कहा कि उन्हें (योगी) कुर्सी पर बिछने वाले तौलिये का रंग मालूम होता है, लेकिन कुर्सी की जिम्मेदारी नहीं। उन्हें नैतिकता के आधार पर मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देना चाहिए। कांग्रेस इस मुद्दे को लेकर सड़क पर उतरेगी।

उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार मामले की जांच कराने का ढोंग कर रही है, क्योंकि सरकार अपने निर्णय में पहले ही कह चुकी है कि ये मौतें ऑक्सीजन की कमी की वजह से नहीं हुई। जब फैसला हो गया, तो जांच का क्या औचित्य है? सरकार के मंत्री प्रदेश की जनता को गुमराह कर रहे हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को निशाने पर लेते हुए उन्होंने कहा कि मोदी ने पुर्तगाल के जंगल की आग के बारे में ट्वीट किया, लेकिन 70 बच्चों की मौत पर मौन हैं।

देखिए वीडियो - 15 अगस्त को यूपी में 8000 मदरसों की वीडियोग्राफी कराएंगे योगी आदित्य नाथ

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.