scorecardresearch

यूपीः केशव मौर्य-अखिलेश यादव की तकरार के बीच शिवपाल करने लगे CM योगी की तारीफ, सदन में बजती रहीं तालियां

शिवपाल की इस तारीफ के बाद सत्ता पक्ष के विधायकों ने काफी देर तक तालियां बजाईं। सदन में बजती तालियों के बीच शिवपाल यादव के चेहरे पर भी मुस्कान देखी गई। वहीं कई सपा विधायक शिवपाल को देखते रहे।

Shivpal yadav, Akhilesh Yadav, CM Yogi
सदन में बजती तालियों के बीच शिवपाल यादव के चेहरे पर भी मुस्कान देखी गई(फोटो सोर्स: यूट्यूब वीडियो ग्रैब)।

यूपी विधानसभा में उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य और सपा प्रमुख अखिलेश यादव के बीच हुई तकरार का मामला गरमाया हुआ है। इसको लेकर सपा और भाजपा नेताओं में जुबानी जंग जारी है। वहीं सदन में हुई इस नोकझोंक के बीच प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के प्रमुख शिवपाल यादव ने सीएम योगी की तारीफ की है।

शिवपाल यादव ने सीएम योगी आदित्यनाथ की तारीफ में सदन में कहा, “मैंने कई बार मुख्यमंत्री योगी की तारीफ की है। वो ईमानदार हैं, मेहनती हैं। और वो उत्तर प्रदेश को ऊंचाइयों तक ले जाना चाहते हैं।” बता दें कि शिवपाल की इस तारीफ के बाद सत्ता पक्ष के विधायकों ने काफी देर तक तालियां बजाईं। सदन में बजती तालियों के बीच शिवपाल यादव के चेहरे पर भी रहस्यमी मुस्कान देखी गई।

गौरतलब है कि शिवपाल यादव ने यह बात सपा विधायकों के बीच से खड़े होकर कही। इस दौरान कई सपा विधायक शिवपाल को देखते रहे। आगे शिवपाल ने कहा, “साथ में मैं यह भी कहना चाहता हूं कि सीएम योगी यूपी को जिस ऊंचाइयों तक ले जाना चाहते हैं, वो अकेले नहीं हो सकता। इसके लिए उन्हें सत्ता पक्ष और विपक्ष को साथ लेकर चलना होगा। तभी यह संभव है।”

बता दें कि अखिलेश यादव और केशव प्रसाद मौर्य की तकरार के बीच शिवपाल यादव का यह बयान काफी अहम हैं। वहीं सदन की तकरार से अलग अखिलेश और केशव प्रसाद के बीच जुबानी जंग जारी है। केशव प्रसाद मौर्य ने सपा प्रमुख के संस्कारों पर सवाल खड़े करते हुए आरोप लगाया, “अखिलेश यादव ने मेरे पिता, गरीबों और मेरे समाज का अपमान किया है। उन्होंने कहा मुझे उनसे ऐसी उम्मीदें नहीं थी। जिसका जैसा संस्कार होता है, वो वैसा ही विचार रखता है।”

मौर्य ने कहा कि मैं सबका सम्मान करता हूं, अखिलेश ने मेरा अपमान किया होता तो ठीक था, लेकिन उन्होंने मेरे पिता और मेरे समाज का अपमान किया है। मुझे उनसे इस तरह की उम्मीद नहीं थी। इसका जवाब जनता देगी।

दूसरी तरफ अखिलेश यादव ने गुरुवार को मीडिया से बात करते हुए कहा कि जो जैसा बोएगा, वैसा ही काटेगा। हर किसी को अपनी मर्यादा में रहना चाहिए। मालूम हो कि सदन में हुई बहस को लेकर शिवपाल यादव ने नसीहत देते हुए कहा कि हर सदस्य को सदन में संसदीय भाषा का प्रयोग करना चाहिए।

पढें उत्तर प्रदेश (Uttarpradesh News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट