ताज़ा खबर
 

बेहद खतरनाक है PETN विस्फोटक, सिर्फ 500 ग्राम से उड़ाई जा सकती है यूपी विधानसभा

मुख्यमंत्री ने कहा कि डॉग स्क्वायड भी इस विस्फोटक को पहचान पाने में विफल रहा। पाउडर 12 जुलाई को सदन के सफाई कर्मियों को मिला था।

Author July 14, 2017 9:11 PM
उत्तर प्रदेश विधानसभा (फोटो पीटीआई)

उत्तर प्रदेश विधानसभा में समाजवादी पार्टी के विधायक की सीट के नीचे मिले पैकेट में जो सफेद पाउडर पाया गया, वह खतरनाक विस्फोटक पीईटीएन (पेंटाएरीथ्रिटाल टेट्रा नाइट्रेट) है। नेता प्रतिपक्ष राम गोविन्द चौधरी की सीट के निकट करीब डेढ सौ ग्राम पाउडर एक कागज में लिपटा पाया गया। यह जगह विधानसभा अध्यक्ष के आसन के एकदम नजदीक है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सदन को बताया कि यह पीईटीएन है। यह खतरनाक पदार्थ है। उन्होंने बताया कि विशेषज्ञों के मुताबिक इस विस्फोटक की 500 ग्राम मात्रा सदन को उड़ाने के लिए काफी है।

पीईटीएन खतरनाक प्लास्टिक विस्फोटकों में शुमार किया जाता है जो काला बाजार में उपलब्ध है। यह नाइट्रोग्लिसरीन की ही तरह होता है। आतंकवादी समूह इस विस्फोटक का बहुतायत में इस्तेमाल करते हैं क्योंकि यह रंगहीन क्रिस्टल आकार में होता है और इसका आसानी से पता नहीं लगाया जा सकता। अधिकांश विस्फोटक डिटेक्टर के रूप में मेटल डिटेक्टर का इस्तेमाल होता है लेकिन पीईटीएन को सीलबंद डिब्बे में रखा जा सकता है। इसे किसी बिजली के उपकरण के बीच भी रखा जा सकता है। इसे सुरक्षा जांच में आसानी से छिपाकर ले जाया जा सकता है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि डॉग स्क्वायड भी इस विस्फोटक को पहचान पाने में विफल रहा। पाउडर 12 जुलाई को सदन के सफाईर्किमयों को मिला था। दुनिया के कई देशों में पीईटीएन की खरीद पर प्रतिबंध है। इसे पाउडर या पतली प्लास्टिक शीट के रूप में ले जाया जा सकता है। सेना और खनन उद्योग में पीईटीएन का उपयोग वैध तौर पर होता है।

विशेषज्ञों की मानें तो पीईटीएन में खुद विस्फोट नहीं होता बल्कि इसे डेटोनेट करने के लिए अन्य उपकरण की आवश्यकता होती है। पीईटीएन लाने ले जाने में सुरक्षित होता है। लेकिन इसे डेटोनेट करने के लिए कोई प्राथमिक विस्फोटक आवश्यक होता है। पीईटीएन का इस्तेमाल पिछले वर्षों के दौरान कई बम विस्फोटों में किया गया है।

दुनिया भर में पीईटीएन की मदद से विस्फोट की खबरें आती रही हैं। समझा जाता है कि 2011 के दिल्ली उच्च न्यायालय विस्फोट में पीईटीएन का इस्तेमाल किया गया था। इस विस्फोट में 17 लोगों की मौत हो गयी थी।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 योगी आदित्य नाथ को आतंकवादी संगठन का सरगना बताए जाने पर भड़के भाजपाई, जलाईं न्‍यूयॉर्क टाइम्‍स की नकली प्रतियां
2 यूपी: कंपार्टमेंट में जबरन घुस कर चलती ट्रेन में मुस्लिम परि‍वार पर क‍िया हमला, आठ घायल
3 महागुन सोसाइटी तोड़फोड़ मामला: अबतक 13 गिरफ्तार, सामने आए थे पत्थरों की ‘बारिश’ के वीडियो
यह पढ़ा क्या?
X