ताज़ा खबर
 

यूपी: 8 साल की उम्र में घरवालों ने बेचा, 16 में बनी 4 बच्चों की मां, अब जाकर दर्ज हुआ रेप का केस

रिपोर्ट के अनुसार, इस मामले की जानकारी देते हुए नखासा पुलिस थाने के एसएचओ सवेंद्र कुमार शर्मा ने बताया कि पीड़िता के पिता, सौतेली मां, आंटी और उस शख्स के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है, जो पीड़िता को अपने साथ लेकर गया था।

प्रतीकात्मक तस्वीर।

उत्तर प्रदेश के संभल में रहने वाली एक लड़की ने अपने पिता, सौतेली मां और आंटी के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है। लड़की का आरोप है कि जब वह 8 साल की थी तो उसके परिजनों ने राजस्थान के एक आदमी को उसे बेच दिया था। 8 साल की उम्र से लेकर 16 साल की उम्र तक कई बार उसके साथ रेप किया गया, जिसके कारण 16 साल की उम्र में वह चार बच्चों की मां बन गई थी। टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, साल 2010 में उसके परिजनों ने भरतपुर निवासी एक व्यक्ति को उसे बेच दिया था।

लड़की का आरोप है कि उसकी दो छोटी बहनें हैं, जिनकी उम्र 6 और 4 साल थी। उन्हें भी उसके परिजनों ने राजस्थान के लोगों को बेच दिया है। आठ साल तक बंधक रहने और चार बच्चों को जन्म देने के बाद एक दिन पीड़िता किसी तरह आरोपी के चंगुल से भागने में कामयाब हुई और संभल अपने एक रिश्तेदार के घर जा पहुंची। रिश्तेदारों की मदद से पीड़िता ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है। पीड़िता की शिकायत के आधार पर पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 366 ए, 372 और 370 ए के तहत केस दर्ज किया है।

रिपोर्ट के अनुसार, इस मामले की जानकारी देते हुए नखासा पुलिस थाने के एसएचओ सवेंद्र कुमार शर्मा ने बताया कि पीड़िता के पिता, सौतेली मां, आंटी और उस शख्स के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है, जो पीड़िता को अपने साथ लेकर गया था। आरोपियों को गिरफ्तार करने के लिए हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं। फिलहाल, पीड़िता को मेडिकल जांच के लिए भेज दिया गया है। रिपोर्ट के अनुसार, पीड़िता ने बताया कि उसकी मां की मौत साल 2010 में हो गई थी, जिसके तुरंत बाद उसके पिता ने दूसरी शादी कर ली। पीड़िता ने बताया, “सौतेली मां मुझे बहुत प्रताड़ित करती थी। वो मुझे और मेरी दो बहनों को अपने घर राजस्थान ले गई, जहां उसने मुझे तीन लाख रुपए में 50 साल के एक आदमी को बेच दिया। मेरी उससे शादी करा दी गई और मेरा नाम भी बदल दिया गया। छह साल में मैंने चार लड़कों को जन्म दिया जिनमें से दो की मौत हो गई थी।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App