ताज़ा खबर
 

अलीगढ़: 80 हजार रुपये में गैंगरेप का निपटारा करने वाली थी पंचायत, पीड़‍िता के भाई ने कराई FIR

पीड़िता के भाई ने बताया कि चूंकि मामला मेेेेरी बहन से जुड़ा हुआ था, इसलिए मैंने गुरुवार का पूरा दिन गांव वालों का समर्थन जुटाने में लगा रहा। शुक्रवार को गांव की पंचायत ने मुझ पर दबाव डाला कि मैं आरोपी पक्ष से 80 हजार रुपये लेकर मामले का रफा-दफा कर दूं।

तस्वीर का प्रयोग प्रतीक के तौर पर किया गया है। (एक्सप्रेस फाइल फोटो)

यूपी के अलीगढ़ जिले में एक नाबालिग बच्ची के साथ चार लोगों ने पहले गैंगरेप किया। इसके बाद पंचायत ने नाबालिग के भाई को 80 हजार रुपये का नकद मुआवजा लेकर एफआईआर दर्ज न करवाने का दबाव बनाया। लेकिन पीड़िता के भाई ने समझौते से इंकार करते हुए इस मामले में एफआईआर दर्ज करवाई है। पुलिस ने दुष्कर्म के चार में से तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है।

टीओआई की रिपोर्ट के मुताबिक, पुलिस ने बताया कि 14 वर्षीय पीड़िता बुधवार (5 सितंबर) को देर शाम शौच के लिए बाहर गई थी। इसी दौरान कथित तौर पर चारों आरोपी उसे घसीटकर सूनसान जगह पर ले गए। वहां पर उसके साथ निर्ममतापूर्वक चारों आरोपियों ने गैंगरेप किया। वैसे बता दें कि बच्ची के माता-पिता दोनों का ही निधन हो चुका है। पीड़िता ने ये बात अपनी चाची को बताई। उसकी चाची ने गुरुवार (6 सितंबर) की सुबह ये बात पीड़िता के बड़े भाई को बताई।

HOT DEALS
  • Apple iPhone 7 Plus 32 GB Black
    ₹ 59000 MRP ₹ 59000 -0%
    ₹0 Cashback
  • Honor 7X 64 GB Black
    ₹ 16999 MRP ₹ 17999 -6%
    ₹0 Cashback

पीड़िता का भाई दिहाड़ी मजदूर के तौर पर काम करता है। पीड़िता के भाई ने मीडिया को बताया कि चूंकि मामला मेेेेरी बहन से जुड़ा हुआ था, इसलिए मैंने गुरुवार (5 सितंबर) का पूरा दिन गांव वालों का समर्थन जुटाने में लगा रहा। शुक्रवार (7 सितंबर) को गांव की पंचायत बैठी। पंचायत के सदस्यों ने मुझ पर दबाव डाला कि मैं आरोपी पक्ष से 80 हजार रुपये लेकर मामले का रफा-दफा कर दूं। पीड़िता के भाई ने आगे बताया कि मैंने इस प्रस्ताव को नकार दिया। इसके बाद पंचायत ने मुुझे जबरन गांव से बाहर नहीं निकलने दिया। पूरा दिन कोशिश करने के बाद मैं गांव से बाहर निकल पाया और शनिवार (8 सितंबर) की रात मैंने स्थानीय पुलिस स्टेशन में रिपोर्ट दर्ज करवाई।

अलीगढ़ के दिल्ली गेट थाने की पुलिस ने पीड़िता के भाई की शिकायत के आधार पर चारों आरोपियों चेतन (24), लखन (30), ललित कुमार (22) और विकास (24) के खिलाफ भादवि की धारा 376डी, 354, 506 के अलावा पोक्सो एक्ट की धारा 3 और चार के तहत मामला दर्ज किया है। पुलिस के करवाए मेडिकल में पीड़िता से गैंगरेप की पुष्टि हुई है। मामले की तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है जबकि चेतन अभी फरार है।

हालांकि पुलिस ने पंचायत के सदस्यों के खिलाफ अभी तक कोई एक्शन नहीं लिया है। इसी साल जनवरी में, अलीगढ़ के ही एक अन्य गांव की पंचायत ने कथित तौर पर दुष्कर्म पीड़िता के परिवार को पुलिस में शिकायत दर्ज करने से मना किया था। पंचायत पर कथित तौर पर परिवार को मुआवजा लेकर समझौता करने के लिए भी कहने का आरोप लगा था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App