ताज़ा खबर
 

यूपी उपचुनाव: उल्टा पड़ा अखिलेश यादव का यह दांव, सपाई कह रहे बीजेपी को देंगे वोट

समाजवादी पार्टी ने कैराना में रालोद की उम्मीदवार तबस्सुम हसन को समर्थन देने का फैसला किया है। बदले में रालोद नूरपुर में सपा कैंडिडेट को समर्थन देगा। दोनों दलों में उपचुनाव और 2019 के चुनाव के लिए गठबंधन हुआ है।

समजावादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव। (एक्सप्रेस फोटो)

उत्तर प्रदेश की नूरपुर विधान सभा के लिए समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव ने नईमुल हसन को पार्टी का उम्मीदवार बनाया है लेकिन पार्टी के कैडर उनका विरोध कर रहे हैं। बिजनौर जिले के तहत आने वाली नूरपुर विधान सभा क्षेत्र में सपा नेता और कार्यकर्ताओं का कहना है कि उम्मीदवार बाहरी है इसलिए स्थानीय लोगों में इसके प्रति उबाल है। स्थानीय मुस्लिम मतदाताओं में सबसे ज्यादा नाराजगी बताई जा रही है। उनका मानना है कि उम्मीदवार स्थानीय होना चाहिए न कि बाहरी। स्थानीय लोगों का यह भी तर्क है कि वो बीजेपी उम्मीदवार को वोट देना पसंद करेंगे लेकिन किसी बाहरी को नहीं। बीजेपी ने दिवंगत विधायक लोकेंद्र सिंह की पत्नी अवनि सिंह को उम्मीदवार बनाया है। यह उप चुनाव बीजेपी विधायक लोकेंद्र सिंह के निधन के कारण हो रहा है।

नईमुल हसन जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी छात्र संघ के अध्यक्ष रह चुके हैं। 2017 के चुनाव में सपा ने उन्हें यहीं से उम्मीदवार बनाया था लेकिन बीजेपी के लोकेंद्र सिंह ने हसन को 12000 मतों से हरा दिया था। नईमुल हसन को अखिलेश यादव का करीबी माना जाता है। 2012 में भी हसन को नूरपुर से टिकट दिया गया था। उस वक्त भी वो हार गए थे। तब अखिलेश यादव ने उन्हें दर्जा प्राप्त मंत्री बनाया था। स्योहारा से उनकी पत्नी नगपालिका अध्यक्ष रह चुकी हैं।

बावजूद इसके सोमवार को नूरपुर इलाके के स्योहारा, सहसपुर समेत कई इलाकों में मुस्लिम मतदाताओं ने मईमुल हसन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और उनका पुतला फूंका। ये लोग उम्मीदवार बदलने की मांग कर रहे हैं। नाराज मुस्लिम मतदाताओं का कहना है कि अगर सपा अध्यक्ष ने उम्मीदवार नहीं बदले तो उन्हें हार का सामना करना पड़ेगा क्योंकि वो लोग बीजेपी उम्मीदवार को वोट देंगे। बता दें यहां 28 मई को उप चुनाव है। 31 मई को नतीजे आएंगे। नामांकन का प्रक्रिया 03 मई से शुरू है जो 10 मई तक चलेगा। बता दें कि समाजवादी पार्टी ने कैराना में रालोद की उम्मीदवार तबस्सुम हसन को समर्थन देने का फैसला किया है। बदले में रालोद नूरपुर में सपा कैंडिडेट को समर्थन देगा। दोनों दलों में उपचुनाव और 2019 के चुनाव के लिए गठबंधन हुआ है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App