ताज़ा खबर
 

मोबाइल से भेजा तलाक, मामला दर्ज होने पर भी नहीं हुई गिरफ्तारी

एक महीना बीत जाने के बाद भी कार्रवाई नहीं होने से परेशान होकर महिला पक्ष ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से शिकायत करने का फैसला लिया है।

Author नोएडा | May 15, 2017 4:19 AM
तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीक के तौर पर किया गया है। (File Photo)

आरोप है कि ग्रेटर नोएडा के दादरी थाना इलाके में दहेज में 5 लाख रुपए नहीं मिलने से नाराज शौहर ने अपनी पत्नी को तलाक दे दिया है। शौहर ने तीन बार तलाक लिखकर मैसेज को पत्नी के वालिद के मोबाइल पर भेजा था। पत्नी के परिजनों ने शौहर और उसके परिवार के खिलाफ मामला दर्ज कराया है। एक महीना बीत जाने के बाद भी कार्रवाई नहीं होने से परेशान होकर महिला पक्ष ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से शिकायत करने का फैसला लिया है। 10 अप्रैल, 2016 को दादरी की रहने वाली सलमा की शादी गुरुग्राम के युवक आजाद से हुई थी। आजाद के परिजनों ने लड़के के सरकारी नौकरी करने का झूठ बोला था। जबकि वह किसी निजी कंपनी में नौकरी करता है। सलमा ने सरकारी नौकरी वाले झूठ के बारे में जब भी बात करनी चाही, तो आजाद ने उसे डरा-धमकाकर चुप करा दिया। उसके बाद सलमा के साथ मारपीट होने लगी।

HOT DEALS
  • Honor 7X 64 GB Blue
    ₹ 15444 MRP ₹ 16999 -9%
    ₹0 Cashback
  • Sony Xperia XA Dual 16 GB (White)
    ₹ 15940 MRP ₹ 18990 -16%
    ₹1594 Cashback

बताया गया है कि ससुराल वालों ने सलमा के परिजनों से 5 लाख रुपए देने को कहा था। सलमा के इनकार करने पर आजाद ने उसे दादरी रेलवे स्टेशन पर छोड़ दिया था। उसके बाद घर पहुंची सलमा के वालिद के मोबाइल फोन पर 19 अप्रैल को आजाद ने तलाक, तलाक, तलाक…तीन बार लिखकर एसएमएस भेजा। हालांकि, सलमा के वालिद हकीम इकबाल ने 24 अप्रैल को एसएमएस देखा। एसएमएस देखने के बाद सलमा के परिजन स्थानीय मौलवी के पास गए। मौलवी ने मैसेज देखर तलाक हो जाने की बात कही। तलाक का मैसेज भेजने के बाद सलमा और आजाद के परिवार वालों के बीच पंचायत हो चुकी हैं। आरोप है कि आजाद के परिजन पंचायत के सामने तो सभी बातें मान जाते हैं लेकिन बाद में मुकर जाते हैं। सलमा के वालिद ने बताया कि शादी में हैसियत से ज्यादा दहेज दिया था।

 

तीन तलाक से जुड़ी याचिका पर आज से सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई करेंगे पांच जज; पांचों जजों के अलग-अलग धर्म

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App