ताज़ा खबर
 

गाजियाबाद से नोएडा आने के लिए नहीं मिल रहे तिपहिया

गाजियाबाद के इन इलाकों से रोजाना 20 हजार से ज्यादा लोग नौकरी, पढ़ाई आदि के लिए नोएडा के सेक्टर- 60, 61, 63, 64, 65 आदि आते हैं।

Author नोएडा | September 28, 2016 5:56 AM
(File Pic)

गाजियाबाद के वैशाली, वसुंधरा, कौशांबी व इंदिरापुरम आदि इलाकों में रहने वालों के लिए पिछले कुछ दिनों से नोएडा आना लोहे के चने चबाने जैसा हो रहा है। 20-25 मिनट के सफर को तय करने में घंटों का समय लग रहा है। कारण यह है कि पेड आॅटो वाले गाजियाबाद की तरफ से नोएडा आने को तैयार नहीं हैं।  इनके चालकों के अनुसार नोएडा का ट्रांसपोर्ट विभाग उन्हें गाजियाबाद से आने की इजाजत नहीं दे रहा है। पकड़े जाने पर हजारों रुपए मांगे जाने की वजह से आॅटो चालक वैशाली, इंदिरापुरम आदि इलाकों से लोगों को लाने को तैयार नहीं हैं। उल्लेखनीय है कि गाजियाबाद के इन इलाकों से रोजाना 20 हजार से ज्यादा लोग नौकरी, पढ़ाई आदि के लिए नोएडा के सेक्टर- 60, 61, 63, 64, 65 आदि आते हैं। इस परेशानी को दूर करने की मांग को लेकर वैशाली के रहने वाले राजेंद्र सिंह रावत ने आरटीओ गाजियाबाद और एआरटीओ नोएडा को पत्र भेजा है।

राजेंद्र सिंह ने बताया कि गाजियाबाद से नोएडा जाने वाले टैंपो (शेयर्ड आॅटो) के रूट तय हैं। जिसकी वजह से टैंपो में भीड़ के अलावा गंतव्य स्थान तक पहुंचने में काफी ज्यादा समय लगता है। समय बचाने के लिए लोग आॅओ लेना पसंद करते हैं। 15-20 दिन पहले तक ऐसे आॅटो गाजियाबाद से नोएडा के बीच आसानी से मिल जाते थे। लेकिन एकाएक चालकों ने नोएडा जाने से मना कर दिया है। जिस वजह से अन्य वैकल्पिक साधनों से नोएडा पहुंचने में बेवजह समय की बर्बादी हो रही है।  इस मामले पर एआरटीओ नोएडा के अधिकारियों ने बताया कि यूपी संख्या-14 के आॅटो को केवल गाजियाबाद और यूपी संख्या-16 वालों को नोएडा में चलने की इजाजत है। नोएडा और गाजियाबाद के बीच चलने के लिए एनसीआर आॅटो के परमिट जारी किए गए हैं। हालांकि एनसीआर परमिट वाले थ्री व्हीलरों की संख्या कम होने की वजह से लोगों को मिलने में दिक्कत हो रही है।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App