ताज़ा खबर
 

अपनी ही बेटी को बनाना चाह रहा था शिकार, रेप करने से रोका तो ब्लेड मार कर दिया लहूलुहान

रास्ते से गुजर रहे एक शख्स की नजर लड़की की कलाई से आ रहे खून पर पड़ी। इस राहगीर ने उसे तुरंत ई-रिक्शा के जरिए सेक्टर 20 स्थित पुलिस थाने में पहुंचाया, जहां से उसे इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया।

इस तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रतीक के तौर पर किया गया है।

अपनी ही बेटी से दुष्कर्म कर पाने में नाकामयाब होने पर एक सौतेले पिता ने उस पर ब्लेड से हमला कर दिया। 18 साल की यह युवती इस हमले में गंभीर रुप से जख्मी हो गई। यह घटना शनिवार (12 मई) को नोएडा सेक्टर-19 की है। मिली जानकारी के मुताबिक शनिवार की शाम लड़की की मां कुछ सामान खरीदने के लिए बाजार गई थी। तभी इस लड़की के सौतेले पिता ने उसे अपनी हवस का शिकार बनाना चाहा। पीड़ित लड़की के मुताबिक उसके पिता ने उसे एक कमरे में बंद कर दिया। कमरे में उसके पिता ने उसके बाद दुष्कर्म करने की कोशिश की लेकिन लड़की ने जब इसका विरोध किया और मदद के लिए चीखने लगी तब उसके पिता ने उसका मुंह बंद कर दिया। इतना ही नहीं खुद को नाकामयाब होता देख इस शख्स ने लड़की के दाहिने हाथ पर ब्लेड से हमला कर दिया। इस हमले में वो बुरी तरह जख्मी हो गई, लेकिन किसी तरह वो उस शख्स के चंगुल से छुट गई और घर बाहर सड़क पर पहुंच गई।

रास्ते से गुजर रहे एक शख्स की नजर लड़की की कलाई से आ रहे खून पर पड़ी। इस राहगीर ने उसे तुरंत ई-रिक्शा के जरिए सेक्टर 20 स्थित पुलिस थाने में पहुंचाया, जहां से उसे इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। इलाज के बाद लड़की को अस्पताल से छुट्टी मिल गई।

इधर बाजार से घर लौटने के बाद जब लड़की की मां को इस पूरी घटना के बारे में मालूम चला तो वो सन्न रह गई। लड़की की मां का कहना है कि पति की मौत के बाद उन्होंने इस शख्स से शादी रचाई थी। उनकी दो बेटियां हैं। लड़की की मां ने पुलिस को बतलाया है कि पिछले कुछ दिनों से इस शख्स की नजर उसकी बच्ची पर थी।  इधर इस मामले में पुलिस ने आरोपी शख्स के खिलाफ धारा 324, धारा 354 बी और आईपीसी की धारा 376 के तहत केस दर्ज कर लिया है। पुलिस ने रविवार को आरोपी शख्स को गिरफ्तार भी कर लिया। अदालत में आरोपी की पेशी के बाद उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App