ताज़ा खबर
 

दादरी: तनाव के बीच किया गया रवि का अंतिम संस्कार

प्रदर्शन और हंगामे के बीच अखलाक की हत्या के आरोपी रवि का शनिवार को दादरी के बिसाहड़ा गांव में अंतिम संस्कार कर दिया गया।

Author ग्रेटर नोएडा | October 9, 2016 4:18 AM
dadri lynching, beef ban, beef lynching, mohd akhlaq, akhlaq family, akhlaq lynching, bisara lynching, ravin sisodia, ravin sisodia jail, akhlaq ravinदादरी हत्याकांड के आरोपी की मौत से दुखी परिजन (ANI PHOTO)

प्रदर्शन और हंगामे के बीच अखलाक की हत्या के आरोपी रवि का शनिवार को दादरी के बिसाहड़ा गांव में अंतिम संस्कार कर दिया गया। रवि हत्या के आरोप में जेल में बंद था, जहां उसकी मौत हो गई थी। इससे पहले बिसाहड़ा गांव के लोग और रवि के परिजन उसके शव को सड़क पर रखकर आंदोलन कर रहे थे और एक करोड़ रुपए का मुआवजा मांग रहे थे। गांव के लोगों की शनिवार को एक पंचायत भी हुई, जिसमें अगली रणनीति पर चर्चा की गई। पंचायत का कहना है कि जब तक उनके बच्चों को न्याय नही मिलता, तब तक आंदोलन जारी रहेगा।

पंचायत में जेल में बंद युवकों की सुरक्षा की मांग के साथ अखलाक के भाई जान मोहम्मद को गिरफ्तार करने, पूरे मामले की सीबीआइ जांच कराए जाने और रवि के परिवार को एक करोड़ रुपए का मुआवजा देने की मांग भी की गई। पंचायत ने कहा कि वह चुनाव तक पूरे प्रदेश में सपा के खिलाफ आंदोलन चलाएगाी और इसके लिए हिंदू समाज की कमेटी बनाई जाएगी। वहीं रवि की मौत को लेकर जेल के अधिकारी चुप्पी साधे हुए हैं। सेन समाज ने भी प्रदेश सरकार से रवि के परिजनों को एक करोड़ रुपए की आर्थिक सहायता देने मांग की है।

साथ परिवार के एक सदस्य को नौकरी और बच्चों की शिक्षा के उचित प्रबंध की भी मांग की गई है। संगठन के जिलाध्यक्ष चंद्र सेन ने कहा कि जेल में रवि की मौत होना दुर्भाग्यपूर्ण है। सरकार पीड़ित परिवार को एक करोड़ रुपए की आर्थिक मदद व अन्य जरूरी सुविधाएं दे। स्थानीय सांसद और केंद्रीय मंत्री महेश शर्मा ने रवि के परिवार को पांच लाख रुपए का चेक सौंपा है, जबकि उत्तर प्रदेश सरकार ने बीस लाख रुपए का मुआवजा दिया है। इससे पहले गुरुवार को बिसाहड़ा गांव में रवि के परिजन और ग्रामीणों ने कैंडल मार्च भी निकाला था।

 

 

Next Stories
1 मकान खरीदारों को प्राधिकरण ने किया सतर्क
2 अखलाक़ का क़त्ल: एक साल में कोर्ट से मिलीं 18 तारीखें, केवल 5 पर हुई सुनवाई, जानिए हर डेट पर हुई कोर्ट कार्रवाई का ब्योरा
3 गाजियाबाद से नोएडा आने के लिए नहीं मिल रहे तिपहिया
आज का राशिफल
X