ताज़ा खबर
 

सगे भाइयों के हत्यारे की गिरफ्तारी को लेकर धरना

धरने पर बैठे सदस्यों ने पीड़ित पक्ष को 50-50 लाख रुपए की सहायता राशि और सरकारी नौकरी दिए जाने की भी मांग की।
Author नोएडा | October 24, 2017 04:26 am
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

बरौला गांव में 9 अक्तूबर को दो सगे भाइयों की हत्या के विरोध में सोमवार को सूरजपुर कलेक्ट्रेट में विभिन्न सामाजिक संगठनों और सर्व समाज के सदस्यों ने एक दिवसीय धरना दिया। इस दौरान डीएम बीएन सिंह को एक ज्ञापन भी सौंपा गया। जिसमें मांग की गई है कि मुख्य हत्यारोपी जितेंद्र अभी भी फरार चल रहा है। उसे तुरंत गिरफ्तार करने और सभी आरोपियों पर एनएसए के तहत कार्रवाई की जाए। बता दें कि 9 अक्तूबर को बरौला गांव में रहने वाले दो सगे भाई उमेश और योगेश की हत्या कर दी गई थी। धरने पर बैठे सदस्यों ने पीड़ित पक्ष को 50-50 लाख रुपए की सहायता राशि और सरकारी नौकरी दिए जाने की भी मांग की। इसके अलावा पीड़ित परिवार और उनके सहयोगियों पर न्याय मांगने पर दर्ज मुकदम वापस लेने को भी कहा। डीएम ने यथा संभव मदद करने का आश्वासन दिया। उधर, धरने पर बैठे सदस्यों ने पुलिस और प्रशासन से मदद नहीं मिलने पर अनिश्चितकालीन धरने की चेतावनी दी है।

1.50 लाख ठगे, दिवाली पर कमरा खाली कर भागा आरोपी सोहरखा गांव में एक युवक ने पड़ोसी को स्नातक कराने के नाम पर 1.50 लाख रुपए ठग लिए। आरोप है कि स्नातक नहीं कराने पर जब पीड़ित ने रुपए वापस मांगे, तो युवक ने कुछ दिनों में लौटाने को कहा। इसी बीच दीवाली की छुट्टी के दौरान आरोपी युवक कमरा खाली कर फरार हो गया। थाना सेक्टर- 49 पुलिस मामले की जांच कर रही है। मूलरूप से बनारस का रहने वाला अमित कुमार सोहरखा गांव में किराए पर रहता है। वह ग्रेटर नोएडा की एक मोबाइल कंपनी में नौकरी करता है। उसके पड़ोस में रोशन नाम का युवक रहता था। रोशन ने अमित को स्नातक की डिग्री दिलाने का झांसा देकर तीन बार में 1.50 लाख रुपए ले लिए। अगस्त तक डिग्री मिलनी थी। जब डिग्री नहीं मिली तो अमित ने रुपए लौटाने को कहा। रोशन ने दिवाली के बाद रकम लौटाने की बात कही। इस बीच दिवाली पर अमित अपने परिवार के साथ गांव गया था।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App