ताज़ा खबर
 

नोएडा: सड़कों पर उतरी चमकती बसों से बदली दिखी शहर की तस्वीर

सिटी बस सेवा के तहत कुल 400 बसें चलाई जानी हैं। कम से कम 10 रुपए और अधिकतम किराया 50 रुपए तय किया गया है।
Author नोएडा | December 16, 2016 21:56 pm
यूपी सरकार ने नोएडा में शुरू की नई लो फ्लोर बसें ( फाइल फोटो)

बुधवार सुबह चमचमाती एसी लो फ्लोर बसों को देखकर नोएडा के निवासियों के चेहरे खिल गए। वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए उप्र के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने जैसे ही हरी झंडी दिखाई, वैसे ही गुब्बारे हवा में उड़ाकर बसों का संचालन शुरू हो गया। पहले से चुने गए 6 मार्गों पर बसें चलने लगी। हालांकि बस चलने की लोगों को पहले से जानकारी नहीं थी इसलिए काफी कम मुसाफिरों ने ही पहले दिन सफर किया। अलबत्ता चढ़ने वाली सवारियों का फूल देकर और मिठाई खिलाकर स्वागत किया गया। पहले चरण में कुल 50 बसों का संचालन किया जाएगा। जो नोएडा और ग्रेटर नोएडा के विभिन्न रास्तों पर चलेंगी। हालांकि सिटी बस सेवा के तहत कुल 400 बसें चलाई जानी हैं। कम से कम 10 रुपए और अधिकतम किराया 50 रुपए तय किया गया है।

नोएडा मेट्रो रेल कारपोरेशन (एनएमआरसी) अधिकारियों के मुताबिक, बस चलने वाले मार्गों पर बस स्टाप और फ्लैग पोल लगाए गए हैं। आने वाले दिनों में नोएडा, ग्रेटर नोएडा समेत एक्सप्रेस वे पर बस शेल्टर बनाए जाएंगे। नोएडा में सिटी बस सेवा का संचालन बॉटैनिकल गार्डन से किया जाएगा। खास तौर पर सवारियों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए चयनित मार्गों को शहर के सभी मेट्रो स्टेशनों से जोड़ा गया है। साथ ही नोएडा, ग्रेटर नोएडा में प्रस्तावित मेट्रो स्टेशनों पर सिटी बस सेवा के लिए अलग से लेन बनाने का प्रस्ताव किया गया है। यूपी राज्य परिवहन निमग (यूपीएसआरटीसी) बस संचालन का प्रबंधन करेगी।

साथ ही मुसाफिरों के लिए 24 घंटे हेल्प लाइन की व्यवस्था भी कई गई है। जीपीएस सिस्टम बसों में लगाए गए हैं। बसों में दो सीसीटीवी कैमरों के अलावा एक कैमरा पीछे भी लगाया गया है। चालक सीट के सामने एलईडी स्क्रीन लगाई गई है। अत्याधुनिक बसों के दरवाजे खुले रहने पर उन्हें चलाया नहीं जा सेगा। दिव्यांगों की मदद के लिए बसों में व्हील चेयर रैंप भी बनाया गया है। 0-3 किलोमीटर सफर करने पर 10 रुपए किराया लगेगा। जबकि अधिकतम 30 किलोमीटर से ज्यादा के सफर पर 50 रुपए किराया होगा। इस अवसर पर एनएमआरसी के एमडी संतोष यादव, पीडी. उपाध्याय, नोएडा प्राधिकरण के वरिष्ठ परियोजना अभियंता संदीप चंद्रा, एसपी सिटी दिनेश यादव समेत बड़ी संख्या में अधिकारी मौजूद थे।

 

दिल्ली: करोल बाग से 3.25 करोड़ की पुरानी करंसी बरामद

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.