ताज़ा खबर
 

पुराने नोट जमा कराने के लिए बचे सिर्फ चार दिन

लोगों के पास नकदी की कमी का असर बाजारों पर भी पड़ा है। नए साल को लेकर बाजारों में उत्साह पूरी तरह से ठंडा पड़ा है।
Author नोएडा | December 27, 2016 07:06 am
नई दिल्ली में बैंक ऑफ़ बड़ौदा के एटीएम के बाहर कतार में खड़े होकर अपनी बारी की प्रतीक्षा करते लोग। (Photo Source: PTI/File)

500 और 1000 रुपए के पुराने नोट जमा कराने की मियाद केवल 4 दिन बची है। बैंकों में नए नोटों की आपूर्ति में सुधार नहीं होने के बावजूद सोमवार से ए  बार फिर बैंकों के बाहर भारी भीड़ और लंबी कतार लगने का सिलसिला शुरू हो गया। बैंकों में नकदी लेने वालों से तीन गुना ज्यादा लोग पुराने नोट जमा कराने पहुंचे। सरकार और बैंक अधिकारियों के विफल दावों से झल्लाए लोगों ने अब उन पर भरोसा करना बंद कर दिया है। पिछले पौने दौ महीने की तरह अब भी शहर के ज्यादातर इलाकों की बैंक शाखाओं में नकदी खत्म के नोटिस चस्पा हो रहे हैं। बैंक अधिकारी भी नोटबंदी के कई हफ्ते बीतने के बाद एकाएक पुराने नोटों को जमा कराने को लेकर बढ़ी भीड़ पर हैरानी जता रहे हैं। इसी के कारण जमा होने वाले नोटों की बारीक जांच भी की जा रही है।
वहीं उम्मीद लगाई जा रही है कि 30 दिसंबर के बाद हालात में सुधार आएगा। हालांकि इस पर भी अटकलें कायम हैं। बैंकों में नकदी की कमी के कारण पिछले तीन हफ्तों से आरबीआइ नहीं खुद शाखा प्रबंधक अपनी तरफ से बनाए नियम ग्राहकों पर लागू कर रहे थे। पहले एक हफ्ते में 24 हजार रुपए तक निकालने के आरबीआइ के आदेश के बावजूद ग्राहकों को सिर्फ चार या पांच हजार रुपए दिए गए।

लोगों के पास नकदी की कमी का असर बाजारों पर भी पड़ा है। नए साल को लेकर बाजारों में उत्साह पूरी तरह से ठंडा पड़ा है। अब तक 31 दिसंबर और 1 जनवरी पर डिस्को, पब, रेस्तरां और होटल आदि में होने वाले कार्यक्रमों की करीब 10-15 दिन पहले बुकिंग हो जाती थी, लेकिन इस बार अभी तक इसमें 60 फीसद तक की गिरावट रही है। 2000 रुपए के नोट के खुले कराने की दिक्कत भी बाजारों पर भारी पड़ रही है। उधर, नए साल में बैंकों में नकदी के हालात सुधरने पर अर्थशास्त्री एक राय नहीं हैं। उनके अनुसार 10 जनवरी के बाद ही बैंकों में 500 रुपए के पर्याप्त नोट पहुंचने की उम्मीद है। लिहाजा बैंकों से निकाली जाने वाली रकम को एकाएक बढ़ाना संभव नहीं होगा। बैंकों के अलावा एटीएम बूथों की हालत भी औद्योगिक महानगर में बेहद खस्ताहाल रही है। शहर में लगे करीब आधे एटीएम काम नहीं कर रहे हैं। बाकी एटीएम में से ज्यादातर में 100 रुपए के नोट डाले जाने के कारण वे चंद घंटों में ही खाली हो रहे हैं। एटीएम में दोबारा रकम डालने के लिए अगले दिन का इंतजार भी लोगों की परेशानी बढ़ाने की मुख्य वजह रहा है।

 

राहुल गांधी के आरोपों का पीएम मोदी ने किया पलटवार; कहा- “अब क्योंकि वो बोल चुके हैं, तो भूकंप का कोई चांस ही नहीं”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.