ताज़ा खबर
 

यूपी: गो रक्षा हिंदू दल की धमकी- नवरात्रि में आहत मत करो हिंदुओं की भावनाएं, बंद रखो मीट-मछली-अंडे की दुकानें

रिपोर्ट के मुताबिक नागर ने दादरी एसडीएम के दफ्तर को एक ज्ञापन सौंपा था और कार्रवाई की मांग की थी। वेद नागर ने कहा कि यदि जिला प्रशासन कार्रवाई नहीं करता है तो ये लोग इलाके में कैंप करेंगे और दुकानों को जबरन बंद करेंगे।
प्रतीकात्मक तस्वीर

दिल्ली से सटे नोएडा और ग्रेटर नोएडा के मीट, मछली और अंडा दुकानों को गौ रक्षा हिन्दू दल नाम के एक संगठन ने चेतावनी दी है कि वे लोग नवरात्रि के दौरान अपनी दुकानों को बंद रखें। अगर वे ऐसा नहीं करते हैं तो इस संगठन के लोग जबरन उनकी दुकानें बंद करवा देंगे। नवरात्रि रविवार (18 मार्च) से शुरू हो गया है। इस संगठन ने पिछले साल भी मांस-मछली के दुकानों को बंद करवा दिया था, और शहर के ढाबा वालों को कहा था कि नवरात्रि के दौरान वे मांसाहार भोजन ना परोसें। टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक वेद नागर नाम का शख्स खुद को इस संगठन का अध्यक्ष बताता है। इस शख्स ने कहा, “नवरात्रि हिन्दुओं का पवित्र त्यौहार है, हमारी धार्मिक भावनाओं का सम्मान किया जाना चाहिए और नौ दिनों तक इन दुकानों को बंद रखा जाना चाहिए।” बता दें कि पिछले साल वेद नागर को गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया था जब इस शख्स ने ग्रेटर नोएडा के बादलपुर में नवरात्रि के दौरान दुकानों को बंद कराने की कोशिश की थी।

हालांकि प्रशासन का कहना है कि ऐसा कोई भी सरकारी आदेश नहीं दिया गया है, और स्थानीय खुफिया यूनिट को इन समूहों की हरकतों पर निगाह रखने को कहा गया है। रिपोर्ट के मुताबिक नागर ने दादरी एसडीएम के दफ्तर को एक ज्ञापन सौंपा था और कार्रवाई की मांग की थी। वेद नागर ने कहा कि यदि जिला प्रशासन कार्रवाई नहीं करता है तो ये लोग इलाके में कैंप करेंगे और दुकानों को जबरन बंद करेंगे। नागर का दावा है कि कई हिन्दू संगठन जैसे वीएचपी, हिन्दु युवा वाहिनी, बजरंग दल और शिव सेना को उनका समर्थन हासिल है।

दादरी एसडीएम अमित कुमार सिंह का कहना है कि किसी भी संगठन ने उनसे मुलाकात नहीं की है। उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन ने मीट दुकानों को बंद करने के कोई आदेश भी जारी नहीं किये हैं। उन्होंने कहा कि एलआईयू को सक्रिय कर दिया गया है और उनसे इनपुट ली जा रही है। उन्होंने कहा कि अगर ये लोग किसी तरह का हंगामा करते हैं तो प्रशासनिक कार्रवाई की जाएगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App