ताज़ा खबर
 

नोएडा: प्रदूषण के कारण 27 हॉट मिक्स प्लांट बंद, चलेंगे को लेकर संशय बरकरार

प्रदूषण फैलाने के चलते एनजीटी ने 5-5 लाख रुपए का जुर्माना लगाया था। सड़कों की मरम्मत में हॉट मिक्स प्लांटों को बंद कराने की समस्या आड़े आ रही थी।

Author नोएडा | June 13, 2017 4:24 AM
राष्ट्रीय हरित अधिकरण (एनजीटी)।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का प्रदेश के सभी सड़कों को गड्ढा मुक्त के फरमान पर नोएडा में प्रदूषण मानक सामने आ रहे हैं। नवंबर 2016 में एनजीटी ने नोएडा के 27 हॉट मिक्स प्लांट बंद करा दिए थे। साथ ही प्रदूषण फैलाने के चलते एनजीटी ने 5-5 लाख रुपए का जुर्माना लगाया था। सड़कों की मरम्मत में हॉट मिक्स प्लांटों को बंद कराने की समस्या आड़े आ रही थी। जिसको लेकर प्राधिकरण लगातार जिला प्रशासन से मिक्सिंग प्लांट खोलने को लेकर बैठक करता रहा है। इसके बाद केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड और उप्र प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अधिकारियों ने हॉट मिक्स प्लांटों का संयुक्त सर्वे किया था। संयुक्त रिपोर्ट के बाद 8 मई, 2017 को एनजीटी ने हॉट मिक्स प्लांटों को तीन सप्ताह के लिए चालू करने का आदेश दिया था।

प्राधिकरण के अधिकारियों से मिली जानकारी के मुताबिक हॉट मिक्स प्लांट चालू रहेंगे या नहीं, इसका फैसला मंगलवार को केंद्रीय और उप्र प्रदूषण नियंत्रण विभाग का सर्वे तय करेगा। इसके लिए 9 बजे संयुक्त जांच टीम वाजिदपुर स्थित हॉट मिक्स प्लांट पहुंचेगी। जांच के बाद संयुक्त टीम एनजीटी में सर्वे रिपोर्ट प्रस्तुत करेगी। रिपोर्ट के आधार एनजीटी प्लांटों के खोलने या बंद करने पर फैसला देगी। बताया गया है कि एनजीटी का आदेश जारी होने तक हॉट मिक्स प्लांट बंद रहेंगे। उल्लेखनीय है कि शहर की दर्जनों विकासशील परियोजनाएं हॉट मिक्स प्लांटों के बंद होने से प्रभावित हो रही हैं। इसके साथ ही मुख्य एवं आंतरिक सड़कों की मरम्मत और गड्ढा भरने का काम भी ठप था। अधिकारियों का तर्क है कि विकासशील परियोजनाओं के निर्माण और सड़कों को गड्ढा मुक्त बनाने के लिए हॉट मिक्स प्लांट भी जरूरी है। प्लांटों के चालू होने का जल्द आदेश जारी नहीं होने पर 15 जून तक सड़कों को गड्ढा मुक्त बनाने का फरमान चुनौती बना हुआ है।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App