scorecardresearch

जब से वोटिंग हुई है ये धमकी दे रहे हैं तुमको मारेंगे सपा को वोट क्‍यों नहीं दिए, मिर्जापुर के निषादों ने लगाई संजय निषाद, सीएम योगी से गुहार

आरोप गांव के प्रधान पर लगाया गया है कि प्रधान और उनके बेटे सपा को वोट ना देने के कारण निषादों और मल्लाहों से मारपीट कर रहे हैं। वहीं गांव के प्रधान ने आरोपों का खंडन किया है।

sanjay nishad | yogi adityanath| uttar pradesh
संजय निषाद और योगी आदित्यनाथ (फोटो सोर्स: @ani and @myogiadityanath)

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव समाप्त हो गए हैं लेकिन चर्चा अभी भी जारी है। उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर से एक ऐसी खबर आई है जिसने लोगों को आश्चर्यचकित कर दिया है। दरअसल मिर्जापुर जिले के कुछ निषाद समाज के लोगों ने आरोप लगाया है कि समाजवादी पार्टी को वोट ना देने के कारण सपा नेता उनके घर में घुस कर उनको मार रहे हैं। निषाद समाज के लोगों ने सीएम योगी और निषाद पार्टी के अध्यक्ष डॉक्टर संजय निषाद से सुरक्षा देने की गुहार लगाई है।

दरअसल समाचार चैनल यूपी तक की एक रिपोर्ट के अनुसार मिर्जापुर के लखनपुर गांव में मल्लाह और निषाद समाज के लोग रहते हैं। निषाद और मल्लाहों ने आरोप लगाया है कि यूपी विधानसभा चुनाव में अपनी मर्जी से वोट डालने के कारण उन्हें सपा नेताओं द्वारा प्रताड़ित किया जा रहा है और उनके साथ मारपीट की जा रही है। इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर भी वायरल हो रहा है।

समाचार चैनल से बातचीत के दौरान एक महिला ने आरोप लगाया कि 2 दिन पहले से ही सपा नेता घर में घुस कर लोगों को मार-पीट रहे हैं और बोल रहे हैं कि सपा को क्यों वोट नहीं दिया? महिला ने यह भी कहा कि जिन घरों में पुरुष नहीं रहते हैं उन घरों में भी सपा नेता घर में घुस जा रहे हैं और अन्दर मौजूद लोगों से मारपीट कर रहे हैं। महिलाओं का यह भी आरोप है कि पुलिस मामले को दबा रही है और कार्यवाही नहीं कर रही है। महिलाओं ने डीएम दफ्तर के बाहर धरना भी दिया।

निषाद समाज की महिलाओं ने गांव के ही प्रधान और उनके बेटे पर मारपीट का आरोप लगाया है। महिलाओं ने यह भी आरोप लगाया है कि पुलिस इस मामले में पैसे खा कर बैठ गई है। हालांकि गांव के प्रधान ने इन आरोपों का खंडन किया और उन्होंने कहा कि ऐसी कोई बात नहीं है।

पूरी घटना पर गांव के प्रधान जटाशंकर यादव ने कहा कि, “इन आरोपों में कोई भी सच्चाई नहीं है। झगड़ा बच्चों को लेकर था जिसे फालतू में तूल दिया जा रहा है। बीजेपी और सपा को लेकर कोई झगड़ा ही नहीं है। मैं दबंग नहीं हूं और आप गांव के किसी भी व्यक्ति से सार्वजनिक तौर पर पूछ सकते हैं कि जटाशंकर यादव कैसा आदमी है। मेरे विरोधी जो हमसे हार गए हैं, वह सिर्फ मुझे बदनाम करने की साजिश रच रहे हैं।” वहीं संजय निषाद ने घटना पर कहा कि वह घटना की निंदा करते हैं और प्रशासन से कड़ी कार्यवाही की मांग करेंगे।

पढें उत्तर प्रदेश (Uttarpradesh News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.