ताज़ा खबर
 

नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने जारी किया मायावती से बातचीत का टेप, कहा- पूरा खुलासा करूंगा तो भूचाल आ जाएगा

सिद्दीकी का कहना है कि मायावती ने उनसे दो करोड़ रुपए की रकम मांगी थी।

उत्तर प्रदेश के पूर्व कैबिनेट मंत्री एवं बहुजन समाज पार्टी (बसपा) से निष्कासित नसीमुद्दीन सिद्दीकी

बहुजन समाज पार्टी में कभी नंबर दो की हैसियत रखने वाले नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने आज (11 मई को) एक प्रेस कॉन्फ्रेन्स कर मायावती पर जमकर हमला बोला। उन्होंने अपनी पूर्व सुप्रीमो पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं। सिद्दीकी का कहना है कि मायावती ने उनसे 50 करोड़ रुपए की रकम मांगी थी। सिद्दीकी ने इससे संबंधित एक ऑडियो टेप सार्वजनिक करते हुए कहा कि अगर पूरा खुलासा किया तो भूचाल आ जाएगा, इसलिए अभी पूरा खुलासा नहीं करूंगा। उन्होंने कहा कि मायावती ने उनसे अपनी जमीन बेचकर 50 करोड़ रुपए का भुगतान करने की बात कही थी। इतना ही नहीं सिद्दीकी ने आरोप लगाया है कि मायावती ने मुसलमानों के लिए अभद्र भाषा का प्रयोग करते हुए कहा था कि ये दाढ़ी वाले कुत्ते हैं। इन्होंने हमारी पार्टी को वोट क्यों नहीं दिया। मायावती ने नसीमुद्दीन को उनके बेटे समेत कल ही पार्टी से बाहर निकाल दिया था।

सिद्दीकी ने कहा कि मुझपर झूठे इल्ज़ाम लगाकर पार्टी से निष्कासित किया गया। मायावती ने जब मुझसे पैसों की मांग की थी तो मैंने उनसे कहा था कि अगर मैं अपनी जमीन बेच भी दूं, तो इतनी रकम नहीं मिलेगी। मैंने मायावती से यह भी कहा था कि मैं पार्टी के लिए कुछ भी करने के लिए तैयार हूं लेकिन मुझपर गलत आरोप लगाए गए। इसके बाद सिद्दीकी ने कहा कि जिस कांशीराव ने इस पार्टी की नींव रखी थी। मायावती ने उसी कांशीराव के बारे में भी बुरा बोला। सिद्दीकी ने कहा कि बहनजी आपको जिसने राजनीति सिखाई आप उनके बारे में बुरा कैसे बोल सकती हैं। इसके जवाब में बहनजी ने मुझसे कहा कि मैं तुम्हारे खिलाफ कार्रवाई करूंगी। सिद्दीकी ने मायावती पर आरोप लगाया कि वह खुद पार्टी को खत्म करना चाहती हैं ताकि उनके अलावा कोई अन्य व्यक्ति बसपा का सुप्रीमो न बन सके।

पार्टी से निष्कासित होने के बाद अपने एक बयान में सिद्दीकी ने कहा था कि मैं समझता हूं कि इस निष्कासन से मेरे व मेरे परिवार की और मेरे सहयोगियों की बहुजन समाज पार्टी में 34-35 साल की कुबार्नी का सिला मुझे दिया गया है। मैंने इस मिशन के लिए और मायावती के लिए खासतौर पर इतनी कुबार्नी दी है, जिसकी मैं गिनती नहीं कर सकता। नसीमुद्दीन ने आरोप लगाया, “मायावती, उनके भाई आनंद कुमार और सतीश चंद्र मिश्रा द्वारा अवैध रूप से, अनैतिक रूप से और मानवता से परे कई बार ऐसी मांगें की गईं, जो मेरे बस में नहीं थीं। कई बार मुझे मानसिक प्रताड़ना दी गई, टार्चर किया गया। जिसके पुख्ता प्रमाण मेरे पास हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 यूपी: संभल जिले में दो समुदायों के बीच तनाव, उपद्रवियों ने 20 घरों में की लूटपाट
2 महिला आईपीएस को “रुलाने” वाले विधायक को योगी आदित्य नाथ ने किया तलब
3 यूपी सरकार ने राजीव गांधी चैरिटेबल ट्रस्ट को भेजा नोटिस, जमीन पर कर रखा है गैर-कानूनी कब्जा
ये पढ़ा क्या?
X