ताज़ा खबर
 

मुज़फ्फरनगर: बेटी को पड़ोसी से हुआ प्यार तो बाप ने गला काट कर प्रेमी के घर के बाहर फेंक दिया

पुलिस ने इस मामले में आरोपी के खिलाफ केस दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया है।

Author मुजफ्फरनगर | March 23, 2017 10:32 am
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीकात्मक तौर पर किया गया है।

उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जिले में एक पिता ने अपनी इज्जत बचाने की खातिर अपनी बेटी का खून कर दिया। उसकी बेटी ने बस ये गुनाह किया था कि उसे एक लड़के से प्यार हो गया था। पिता ने बेटी को उसके प्यार करने की सजा मौत के रूप में दी। पुलिस ने इस मामले में आरोपी के खिलाफ केस दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया है। टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक मुजफ्फरनगर में रहने वाले जब्बार कुरैशी की बेटी अपने ही पड़ोस में रहने वाले दिलनवाज अहमद से प्यार करती थी। बुधवार को कुरैशी की बीवी ने घर के पास बने एक कमरे से अपनी बेटी और एक युवक की आवाज सुनी।

इसके बाद उसने दोनों को बाहर से बंद कर दिया और इसकी जानकारी कुरैशी को दी। वहां पहुंचकर कुरैशी को दिलनवाज और अपनी बेटी के प्यार की बात पता चली जिसे लेकर दोनों के परिवार के बीच काफी झगड़ा हुआ। जब कुरैशी ने काफी देर तक दोनों को कमरे बंद रखा तो दिलनवाज के पिता ने पुलिस को फोन कर दिया। मौके पर पहुंची पुलिस ने दिलनवाज को बाहर निकलवाया। इसके बाद गुस्से से भरे कुरैशी ने अपनी बेटी को घर ले जाकर उसका गला काटकर हत्या कर दी। इतना ही नहीं हत्या करने के बाद आरोपी ने उसके शव को दिलनवाज के घर के बाहर फेंक दिया।

जहां एक तरफ पुलिस कह रही है कि आरोपी ने आत्मसमर्पण नहीं बल्कि हमने उसे गिरफ्तार किया है। वहीं दूसरी तरफ चश्मदीदों का कहना है कि बेटी की हत्या करने के बाद कुरैशी ने पास के पुलिस थाने में जाकर आत्मसमर्पण किया था। खैर जो भी हो इसमें एक बात तो साफ नजर आती है कि आज के समय में प्यार करना एक बहुत बड़ा गुनाह है। हाल ही में ऐसा ही एक मामला शाहजहांपुर में सामने आया था जहां पर 19 साल के फिरोज़ अहमद और 18 साल की गुंजा शर्मा ने परिवार की इज्जत बचाने के लिए आत्महत्या कर ली थी। दोनों के परिवार का अलग-अलग धर्म के होने के कारण उनका यह रिश्ता मंजूर नहीं था।

देखिए वीडियो - बिजनौर में स्कूली छात्रा से छेड़छाड़ के बाद सांप्रदायिक बवाल; मुस्लिम समुदाय के 4 लोगों की मौत

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App