ताज़ा खबर
 

मुन्ना बंजरगी मर्डर केस: चुंबक के जरिये खोजा हत्या में इस्तेमाल पिस्टल, जेल के अंदर यूं पहुंचा हथियार

हत्या के बाद आरोपी सुनील राठी नहाया था, ताकि उसके शरीर में गन पाउडर का जरा सा भी सबूत ना रह जाए। यही नहीं अपने कपड़ों से फॉरेंसिक साक्ष्य मिटाने के लिए राठी ने कपड़े भी धुलवा दिये थे।

वाराणसी के मणिकर्णिका घाट पर मुन्ना बजरंगी का अंतिम संस्कार किया गया (फोटो- पीटीआई 10-7-18)

मुन्ना बजरंगी मर्डर केस में ज्यों-ज्यों जांच आगे बढ़ रही है। कई चौकाने वाली जानकारियां सामने आ रही है। रिपोर्ट के मुताबिक बागपत जेल में हत्या के बाद आरोपी सुनील राठी नहाया था, ताकि उसके शरीर में गन पाउडर का जरा सा भी सबूत ना रह जाए। यही नहीं अपने कपड़ों से फॉरेंसिक साक्ष्य मिटाने के लिए राठी ने कपड़े भी धुलवा दिये थे। दैनिक जागरण की रिपोर्ट के मुताबिक आरोपी सुनील राठी ने बागपत जेल में सीसीटीवी कैमरा ना होने का पूरा फायदा उठाया। जांच के दौरान इस बात के संकेत मिल रहे हैं टिफिन में बंद करके पिस्टल को जेल के अंदर पहुंचाया गया। पिस्टल और मैगजीन कई हिस्सों में बांटकर अंदर पहुंचाया गया, ताकि इसकी पहचान नहीं हो सके। माना जारहा है कि जेल के अंदर ही पिस्टल को एसेंबल किया गया और एक खतरनाक हथियार तैयार किया गया। सूत्र बताते हैं कि मुन्ना बजरंगी उर्फ डॉन प्रेम प्रकाश सिंह की हत्या से दो-तीन दिन पहले ही जेल के अंदर पिस्टल और कारतूस पहुंचाई गई थी।

मुन्ना बजरंगी की हत्या के मामले में दर्ज एफआईआर से भी नयी जानकारियां सामने आ रही हैं। हत्या के लिए इस्तेमाल की गई पिस्टल को खोजने में जेल और पुलिस प्रशासन को घंटों तक सर खपाना पड़ा। बता दें कि मुन्ना बजरंगी की हत्या के बाद रिपोर्ट आई थी कि आरोपी सुनील राठी ने पिस्टल को गटर में फेंक दिया है। आखिरकार कई घंटे की मशक्कत के बाद एक बड़े चुंबक की मदद से गटर से पिस्टल निकाला गया। पिस्टल की मैग्जीन और कारतूस को भी बरामद कर लिया गया है। गटर की सफाई के दौरान पुलिस को बीयर, शराब, कोल्ड ड्रिंक की बोतले और केन भी मिली है। इससे पता चलता है कि जेल का सिस्टम पूरी तरह से चरमरा चुका था।

इस बीच खबर ये है कि सुनील राठी बागपत जेल प्रशासन के लिए टेंशन की वजह बन चुका है। राज्य सरकार अब सुनील राठी को फूलप्रुफ सुरक्षा वाले जेल में ले जाना चाहती है। रिपोर्ट के मुताबिक सुनील राठी को लखनऊ जेल ले जाया जा सकता है। बागपत जेल का मुआयना करने वाले सरकारी अधिकारियों ने पाया कि इस जेल में सुनील राठी की दबंगई चलती है, लिहाजा उसे यहां से बाहर ले जाना ही ठीक होगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App