ताज़ा खबर
 

सफर में परेशान शायर मुनव्वर राना ने रेल मंत्री से पूछा- क्‍या बुजुर्गों को यही सुविधा मिलती है?

मशहूर शायर मुनव्‍वर राना सुहेलदेव सुपरफास्‍ट ट्रेन से लखनऊ से दिल्‍ली आ रहे थे। उन्‍हें एम्‍स में अपना इलाज कराना है। मुनव्‍वर ने तीन टिकटें बुक कराई थीं, जिनमें से दो वरिष्‍ठ नागरिक थे। इसके बावजूद उन्‍हें दो अपर बर्थ अलॉट किया गया।

मुनव्‍वर राना ने तीन टिकटें बुक कराई थीं, जिनमें दो अपर बर्थ अलॉट की गई थीं। (फोटो सोर्स: टि्वटर)

मशहूर शायर मुनव्‍वर राणा का स्‍वास्‍थ्‍य कुछ ठीक नहीं है। बढ़ती उम्र के साथ उन्‍हें शारीरिक समस्‍याओं का सामना करना पड़ रहा है। ऐसे में ट्रेन यात्रा के दौरान भी उन्‍हें परेशानी का सामना करना पड़ा। दरअसल, मुनव्‍वर एम्‍स में अपना इलाज कराने के लिए दिल्‍ली आ रहे थे। उन्‍होंने गाजीपुर से आने वाली सुहेलदेव ट्रेन के एसी-1 में टिकट लिया था। मुनव्‍वर लखनऊ से ट्रेन में सवार हुए थे। उनके साथ दो और लोग थे, जिनमें एक और वरिष्‍ठ नागरिक थे। कुल मिलाकर तीन में से दो पैसेंजर वरिष्‍ठ नागरिक थे। इनमें से दो सीटें अपर बर्थ थीं। मुनव्‍वर राना ने इसको लेकर नाराजगी जताई। उन्‍होंने टिकट का पूरा ब्‍यौरा टि्वटर पर पोस्‍ट कर दिया। मुनव्‍वर ने ट्वीट किया, ‘हम एम्‍स में भर्ती होने के लिए जा रहे हैं। तीन में से दो वरिष्‍ठ नागरिक हैं। इसके बावजूद हमें अपर बर्थ अलॉट की गई है। क्‍या बुजुर्गों को यही सुविधा मिलती है?’ उन्‍होंने रेल मंत्री पियूष गोयल को भी टैग किया था। बता दें कि रेलवे में वरिष्‍ठ नागरिकों को लोअर बर्थ अलॉट करने की विशेष व्‍यवस्‍था की गई है, ताकि बुजुर्गों को चढ़ने-उतरने की समस्‍या से दो-चार न होना पड़े। इसके बावजूद कई मामलों में बुजुर्गों को अपर बर्थ दे दिया जाता है, जिसके कारण उन्‍हें कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है।

मुनव्‍वर राना की समस्‍याओं से कई लोगों ने सहमति जताई। जाकिर अली त्‍यागी ने ट्वीट किया, ‘मंत्री जी यह सुविधा सिर्फ नेताओं के लिए है? आम नागरिक, बुजुर्ग और दुनिया के मशहूर शायर के लिए नहीं? क्‍या आपका रेल मंत्रालय बाबा मुनव्‍वर राना को नहीं जानता है? ये भी हो सकता है कि विभाग किसी मुनव्‍वर राना को न जानता हो क्‍योंकि वह तो रिश्‍वत देने वाले व्‍यक्तियों को ही जानता है।’ आदर्श तिवारी ने लिखा, ‘रेल मंत्री जल्‍द इसको देखिये। सभी जानते हैं मुनव्‍वर साहब के घुटनों में समस्‍या है। कई बार ऑपरेशन भी हुआ है। अविलंब इसका निवारण करें।’ प्रदीप गौतम ने ट्वीट किया, ‘अगर रेलवे में वरिष्‍ठ नागरिकों के कोटे की सीटें फुल हो गई हों तो रेल मंत्री कहा से देंगे। गुस्‍सा छोड़ि‍ए और लोअर बर्थ वाले से आग्रह कीजिए।’ बता दें कि मुनव्‍वर राना अपने घुटनों का इलाज करा रहे हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App