ताज़ा खबर
 

रुंधे गले से बोले मुलायम सिंह यादव- ‘हमारा कोई सम्मान नहीं करता, शायद मरने के बाद करें’

शनिवार (25 अगस्त) को उनका दर्द छलक उठा। उन्होंने कहा, अब कोई भी उनका सम्मान नहीं करता है। और शायद अब लोग उनका सम्मान उनके मरने के बाद ही करें। उन्होंने यह भी कहा कि देश में परंपरा रही है कि लोगों का सम्मान उनके जाने के बाद ही होता है।

सपा के मुलायम सिंह यादव। (फोटोः प्रवीण जैन)

समाजवादी पार्टी के संस्थापक और पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव इन दिनों राजनीतिक रूप से हाशिए पर हैं। शनिवार (25 अगस्त) को उनका दर्द छलक उठा। उन्होंने कहा, अब कोई भी उनका सम्मान नहीं करता है। और शायद अब लोग उनका सम्मान उनके मरने के बाद ही करें। उन्होंने यह भी कहा कि देश में परंपरा रही है कि लोगों का सम्मान उनके जाने के बाद ही होता है।

मुलायम सिंह ने कहा,”आज हमारा कोई सम्मान नहीं करता। शायद मेरे मरने के बाद ये मेरा सम्मान करें। हमें याद है, लोहिया जी ने भी कहा था, इस देश में जिंदा रहते, लोग सम्मान नहीं देते हैं।” सपा के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष रहे मुलायम सिंह ने ये बातें राजधानी लखनऊ में कार्यकर्ताओं के सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहीं। ये कार्यक्रम वरिष्ठ सपा नेता भगवती सिंह के जन्मदिन समारोह पर आयोजित किया गया था।

मुलायम सिंह यादव अपने पुराने दिनों को याद करते हुए भावुक हो गए। उन्होंने कहा, मुझे याद है कि कैसे वरिष्ठ नेता भगवती सिंह ने समाजवाद के विचार को बढ़ाने और पार्टी को मजबूत करने में मेरी मदद की थी। पार्टी के नए नेताओं को वरिष्ठ नेताओं से सादगी का सबक लेना चाहिए। पार्टी को विचारों के साथ आगे बढ़ाने की जरूरत है। ये विचार ही हमारी पार्टी का आधार और मूल हैं।”

राजनीतिक हलकों में, मुलायम सिंह यादव के बयानों को उस पीड़ा से जोड़कर देखा जाता है जो उनके बेटे और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के द्वारा उन्हें पार्टी अध्यक्ष के पद से हटाने से पैदा हुई है। अखिलेश यादव की ये ताजपोशी 2017 में यूपी के विधानसभा चुनावों से ठीक पहले हुई थी। इसके बाद मुलायम सिंह को पार्टी का संरक्षक बना दिया गया था।

Next Stories
1 अटल की अस्थि कलश यात्रा पर बोले आजम खान- आज खुद की जान लेना पसंद करुंगा
2 बरेली: मुस्लिम बहुल इलाके से कांवड़ यात्रा निकालने पर विवाद, 750 पर मुकदमा दर्ज
3 यूपी: आरोपी को पकड़ने गई पु‍ल‍िस को बीजेपी विधायक ने रोका, समर्थकों ने दारोगा को पीटा!
ये पढ़ा क्या?
X