यूपी: मुहर्रम के जुलूस के दौरान ताजिये में आग लगने से 32 लोग झुलसे, अस्‍पताल में भर्ती

इस दर्दनाक हादसे के बाद सभी आक्रोशित हो गए। घटनास्थल पर हंगामा होते देख एसपी सिटी अंकित मित्तल पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे। उग्र लोगों को माइक से बोलकर शांत कराने की कोशिश की गई।

Author मुरादाबाद | Updated: September 22, 2018 10:54 PM
Muharram Taziaमुहर्रम के जुलूस की इस तस्‍वीर का इस्‍तेमाल केवल प्रतीकात्‍मक रूप से किया गया है। (Photo : IANS)

मुरादाबाद के मझोला थाना क्षेत्र के जयंतीपुर मंडी समिति रोड पर शुक्रवार देर रात मुहर्रम के जुलूस के दौरान एक ताजिये के हाईटेंशन लाइन की चपेट में आने से कुल 32 लोग झुलस गए। सभी को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जिलाधिकारी राकेश कुमार सिंह और एसएसपी जे.रवींद्र गौड़ ने रात में ही जिला अस्पताल पहुंचकर घायलों का हाल जाना। जुलूस ताजिया लेकर जयंतीपुर से निकल कर करुला की तरफ कर्बला जा रहा था, तभी अचानक ताजिया 132 केवीए के हाईटेंशन लाइन की जद में आ गया। ताजिया जैसे ही तार के संपर्क में आया, तभी जोरदार धमाका हुआ और ताजिया में आग लग गई। इस दौरान ताजिया में उतरे करंट से उसके आसपास चल रहे करीब 32 लोग झुलस गए।

कुछ लोग तजिया के नीचे दब गए, जिन्हें बमुश्किल निकालकर अस्पताल भेजा गया। इस दर्दनाक हादसे के बाद सभी बिजली विभाग को कोसते हुए आक्रोशित हो गए। उन्होंने जमकर हंगामा किया और कार्रवाई की मांग की। घटनास्थल पर हंगामा होते देख एसपी सिटी अंकित मित्तल पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे। उग्र लोगों को माइक से बोलकर शांत कराने की कोशिश की गई।

वहीं जिला अस्पताल में देर रात तक घायल मेहंदी हसन, नासिर, मोहम्मद रजा, अरमान अली, इरशाद, सलमान, अरबाज, मोहम्मद रफी, सद्दाम, बिलाल, आसिफ, नबी हसन, सफदर अली, आस मोहम्मद, नासिर अली, मोहम्मद सानू, मुस्तफा, मोहम्मद अदील, मोहम्मद इमरान, आकिल, नासिर, आसिफ, नईम, नजिम, हसीन, अशरफ, मोहम्मद मुराद, नूर मोहम्मद, कुर्बान, बाबू और सफदर को इलाज के लिए भर्ती कराया गया था।

देर रात जिला अस्पताल पहुंचे जिलाधिकारी रक्ष कुमार सिंह ने बताया की मुहर्रम के जुलूस निकलने के दौरान बिजली के ट्रांसमिशन लाइन से ताजिया टकराने से यह हादसा होना बताया जा रहा है। 32 लोग जख्मी हालत में अस्पताल में भर्ती किए गए हैं। सभी का इलाज किया जा रहा है, जबकि दो की हालत जादा गंभीर है। उन्हें सभी जरूरी चिकित्सीय लाभ उपलब्ध कराया जा रहा है। हादसे की जांच के बाद ही इसकी वजह पता चेल सकेगा।

क्षेत्र के बिजलीघर सीतापुरी फीडर के जेई आशीष बिष्ट ने बताया कि 132 हजार की हाईटेंशन लाइन की चपेट में आने से यह हादसा हुआ है। सीतापुरी फीडर से बिजली सप्लाई शाम से ही बंद कर दी गई थी। चूंकि 132 हजार हाईटेंशन लाइन में करंट आगे से चालू रहता है।

Next Stories
1 अलीगढ़: नवरात्रि के पहले दिन ‘शौचालय पूजा’, भड़की हिंदू महासभा
2 हेमराज का सिर काट ले गए थे पाकिस्‍तानी, भाई बोला- चार दिन बाद भूल जाते हैं नेता, बदला लेने को तैयार हो रहा मेरा भतीजा
3 अलीगढ़: साधु की हत्या में वांछित दो बदमाश ढेर, एनकाउंटर LIVE कवर करने के लिए पुलिस ने पत्रकारों को बुलाया
यह पढ़ा क्या?
X