yogi adityanath, Uttar Pradesh police anti Romeo campaign harassment on couples - यूपी पुलिस की एंटी रोमियो स्क्‍वैड की हरकतों पर धारा 499 के तहत सीएम आदित्‍य नाथ पर बन सकता है मानहानि का केस - Jansatta
ताज़ा खबर
 

यूपी पुलिस की एंटी रोमियो स्क्‍वैड की हरकतों पर धारा 499 के तहत सीएम आदित्‍य नाथ पर बन सकता है मानहानि का केस

उत्‍तर प्रदेश में योगी आदित्‍य नाथ के नेतृत्‍व में भाजपा सरकार बनते ही पुलिस ने मनचलों पर कार्रवाई करने के लिए एंटी रोमियो कैंपेन चलाया है।

एंटी रोमियो स्क्वाड से मनचले काफी परेशान हैं। प्रतीकात्मक चित्र

उत्‍तर प्रदेश में योगी आदित्‍य नाथ के नेतृत्‍व में भाजपा सरकार बनते ही पुलिस ने मनचलों पर कार्रवाई करने के लिए एंटी रोमियो कैंपेन चलाया है। इसका उद्देश्‍य सार्वजनिक जगहों पर लड़कियों और महिलाओं से छेड़खानी करने वालों के खिलाफ कार्रवाई है। लेकिन कई ऐसे मामले भी सामने आए हैं जहां पुलिस ने मनचलों पर कार्रवाई करने के बजाय आम युवकों को प्रताडि़त कर दिया। उदाहरण के तौर पर लखनऊ में पुलिस ने एक युवक को उस समय हिरासत में ले लिया जब वह अपनी दोस्‍त के साथ फिल्‍म देखने के लिए रिक्‍शा से जा रहा था। पुलिस ने लड़की को भी नैतिकता की सीख दी। बाद में जब युवक का दोस्‍त आया तो उसे छोड़ा गया। हालांकि पुलिस का कहना है कि इस तरह की कार्रवाई गलत है। अगर शिकायत मिलती है तो पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

उत्‍तर प्रदेश पुलिस के डीजीपी जावीद अहमद ने हालांकि पुलिसकर्मियों को निर्देश जारी किए थे एंटी रोमियो कैंपेन के दौरान प्रेमी जोड़ों को तंग नहीं किया जाए। केवल ऐसे लोगों पर ही कार्रवाई हो जो महिलाओं से छेड़खानी करते हों। साथ ही कहा था कि सार्वजनिक जगहों पर लोगों को बेइज्‍जत ना किया जाए। सरकार की ओर से भी कहा गया है कि पुलिस केवल मनचलों पर कार्रवाई करें। बावजूद इसके ऐसी खबरें आई हैं कि कई जगहों पर प्रेमी जोड़े पुलिस के निशाने पर रहे। बता दें कि बिना वजह किसी निर्दोष व्‍यक्ति को पुलिस द्वारा परेशान किया जाना भी अपराध की श्रेणी में आता है। साथ ही इस तरह से मानहानि का मामला भी बनता है।

anti romeo squad, yodi adityanath, uttar pradesh police, UP police, UP anti romeo campaign, bjp anti romeo, bjp moral policing, india news, defamation, anti romeo UP, UP news, uttar pradesh news उत्‍तर प्रदेश पुलिस के डीजीपी जावीद अहमद ने हालांकि पुलिसकर्मियों को निर्देश जारी किए थे एंटी रोमियो कैंपेन के दौरान प्रेमी जोड़ों को तंग नहीं किया जाए।

बिना किसी अपराध किसी व्‍यक्ति को तंग किए जाने पर मानहानि का केस किया जा सकता है। भारतीय दंड संहिता की धारा 499 के अनुसार, किसी व्यक्ति, व्यापार, उत्पाद, समूह, सरकार, धर्म या राष्ट्र के प्रतिष्ठा को हानि पहुंचाने वाला असत्य कथन मानहानि कहलाता है। इसके तहत किसी के बारे में बुरी बातें बोलना, किसी की प्रतिष्‍ठा गिराने वाली अफवाह फैलाना, अपमानजनक टिप्‍पणी प्रकाशित या प्रसारित करना। पति या पत्‍नी को छोड़कर किसी भी व्‍यक्ति से किसी और के बारे में कोई अपमानजनक बात कहना, अफवाह फैलाना या अपमानजनक टिप्‍पणी प्रकाशित करना मानहानि माना जा सकता है। हालांकि इस दौरान यह साबित करना होता है कि आरोपी ने छवि खराब करने के उद्देश्‍य से ऐसा कृत्‍य किया। इसके तहत दोषी पाए जाने पर दो साल की कैद या जुर्माना अथवा दोनों सजाएं हो सकती हैं।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से जुड़ी 10 बातें

यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा- ''भाजपा बिना पक्षपात के समाज के सभी वर्गों के भलाई के लिए काम करेगी''

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App