ताज़ा खबर
 

यूपी: अवैध बूचड़खाने बंद करने का आदेश

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने चुनावी जनसभा में कहा था कि प्रदेश में उनकी पार्टी की सरकार आते ही रात 12 बजे से पहले प्रदेश के सभी बूचड़खाने बंद कर दिए जाएंगे। अवैध पशु वध को रोकने के लिए जिलाधिकारी की अध्यक्षता में 10 सदस्यीय समिति। ’किसी भी दशा में गोवंश पशुओं का वध व तस्करी न होने देने का आदेश भी जारी।

Author लखनऊ | March 23, 2017 2:52 AM
बूचड़खाना (Express Photo)

उत्तर प्रदेश सरकार ने गोवध और तस्करी रोकने के कडेÞ निर्देश देते हुए बुधवार को कहा कि अवैध रूप से संचालित पशु वधशालाओं को तुरंत बंद किया जाए। अवैध रूप से हो रहे पशु वध को रोके जाने के लिए जिलाधिकारी की अध्यक्षता में 10 सदस्यीय समिति का गठन करने के निर्देश दिए गए हैं। दरअसल भाजपा अध्यक्ष अमित शाह अपनी हर चुनावी जनसभा में कहते थे कि प्रदेश में उनकी पार्टी की सरकार आते ही रात 12 बजे से पहले प्रदेश के सभी बूचड़खाने बंद कर दिए जाएंगे। उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव राहुल भटनागर ने कहा, ‘प्रदेश में संचालित अवैध पशु वधशालाओं को बंद कराना एवं यांत्रिक पशु वधशालाओं पर प्रतिबंध वर्तमान सरकार की प्राथमिकताओं में है।’ उन्होंने संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए कि प्रदेश के समस्त जिलों में स्थित पशु वधशालाओं का निरीक्षण किया जाए और अवैध रूप से संचालित पशुवधशालाओं को तत्काल प्रभाव से बंद कराने के साथ-साथ दोषी व्यक्तियों के विरुद्घ सुसंगत प्रावधानों के अनुसार दंडात्मक कार्रवाई भी सुनिश्चित की जाए। इस संबंध में नगर विकास विभाग द्वारा शासनादेश जारी कर दिया गया है।
शासनादेश में मुख्य सचिव ने पशुवधशालाओं में अवैध रूप से हो रहे पशु वध को रोके जाने के लिए जिलाधिकारी की अध्यक्षता में 10 सदस्यीय समिति का गठन करने के निर्देश दिए हैं।

राज्य सरकार के प्रवक्ता ने बताया कि समिति में जिलाधिकारी के अलावा वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, पुलिस अधीक्षक, क्षेत्रीय अधिकारी, प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी, संभागीय परिवहन अधिकारी, सहायक संभागीय परिवहन अधिकारी, श्रम प्रवर्तन अधिकारी, जिला पंचायत राज अधिकारी, मुख्य चिकित्साधिकारी, संबंधित नगर आयुक्त, अधिशासी अधिकारी, नगर पालिका परिषदें, नगर पंचायतें, जिला पंचायत तथा खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन के प्राधिकारी समिति के सदस्य होंगे। मुख्य सचिव ने कहा कि किसी भी दशा में गोवंश पशुओं का वध व तस्करी न हो। निरीक्षण के समय यह भी देखा जाए कि पशु वधशालाएं आबादी या धार्मिक स्थलों के निकट न हो। यह भी सुनिश्चित किया जाए कि सार्वजनिक मार्गों के किनारे खुले रूप से या अवैध रूप से वधशालाओं का संचालन बिल्कुल न होने पाए। भटनागर ने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षकों को यह सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए हैं कि पशुवधशालाओं के निरीक्षण के समय आवश्यकतानुसार पुलिस बल उपलब्ध रहे।

मेरठ में आधा दर्जन मीट फैक्टरियां सील

उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले में बसपा के पूर्व सांसद हाजी शाहिद अखलाक के भाई एवं बसपा नेता की फैक्टरी समेत आधा दर्जन मीट फैक्टिरयों में छापामारी की गई। छापामारी के बाद फैक्टरियों को सील कर दिया गया। पुलिस क्षेत्राधिकारी विनोद सिंह सिरोही ने बताया कि मेरठ जिले के खरखौदा क्षेत्र में हापुड़ रोड पर अलीपुर में पूर्व बसपा सांसद हाजी शाहिद अखलाक के भाई एवं बसपा नेता राशिद अखलाक की मीट की फैक्टरी के अलावा अलीपुर में ही स्थित मुर्गियों का दाना बनाने वाली वसीम अहमद की फैक्टरी में छापामारी की गई। मेरठ  जिले की जलालपुर में बंद पड़े बर्फखाने में छापामारी की गई तो वहां भारी मात्रा में मीट के टुकड़े धूप में सूख रहे थे। अब्दुलापुर, लिसाड़ी गेट, कोतवाली, इंचौली, जानी आदि इलाकों में भी अवैध बूचड़खाने संचालित होते पकड़े गए हैं। पुलिस क्षेत्राधिकारी के अनुसार कुल छह मीट फैक्टरियों के संचालकों के खिलाफ खरखौदा थाने में मुकदमा दर्ज कर फैक्टरियों को सील कर दिया गया है।  उधर, पश्चिमी उत्तर प्रदेश के बड़े मीट कारोबारी और बसपा के पूर्व सांसद हाजी शाहिद अखलाक ने कार्रवाई को अवैध बताते हुए कहा कि पुलिस और प्रशासन की अवैध बूचड़खानों के खिलाफ कार्रवाई तो ठीक है लेकिन इसकी आड़ में जिस तरह वैध मीट संचालकों का उत्पीड़न शुरू हुआ है, वह गलत है। अखलाक के अनुसार वे इस मामले में सरकारी अफसरों से तो बात करेंगे ही अदालत का दरवाजा भी खटखटाएंगे।

 

योगी के CM बनते ही एक्शन में आया एंटी रोमियो स्कवैड; लेकिन कई जगह हुआ कानून का उल्लंघन

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App