Uttar pradesh up police dead body lucknow up -अंतिम संस्कार के लिए तरसते रहें हैं परिवारजन, 37 दिनों से थाने में सड़ रही है लाश - Jansatta
ताज़ा खबर
 

यूपी के एक थाने में 37 दिनों से पड़ी है 28 वर्षीय युवक की लाश, परिजन अंतिम संस्कार के लिए कर रहे हैं इंतजार

यूपी के सुल्तानपुर जिले के रहने वाले युवक की लाश पेड़ से लटकी मिली थी।

इस तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

सुलतानपुर के थाने में संवेदनहीनता का एक मामला देखने को मिला है। थाने में पिछले 37 दिनों से एक शख्स का सड़ती रही और पुलिस इस मामले में सिर्फ खानापूर्ति करती नजर आई। शव का पोस्टमार्टम तो किया गया पर शव इतना सड़ चुका था कि मौत के कारणों का कुछ पता नहीं चल सका। वहीं इस शख्स के परिवार वाले अंतिम संरकार के लिए शव पाने के लिए इधर-उधर भटकते रहे।

दैनिक जागरण की रिपोर्ट के मुताबिक कोतवाली क्षेत्र के भभोट अहिरौली का रहने वाला शशिकुमार एक शाम अपने घर से निकला था लेेकिन वह उसके बाद अपने घर नहीं लौटा। इस घटना के 15 दिन बाद 6 नवंबर को शशिकुमार का शव गांव में एक पेड़ से लटका हुआ मिला। शशि कुमार का शव मिलने के बाद परिवार ने इस बात की जानकारी पुलिस को दी साथ ही उसकी हत्या की आशंका भी जताई। जिसके बाद पुलिस ने व्यक्ति के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया लेकिन मृत्यु के सही कारणों का पता न लगने पर डाक्टरों की टीम ने शशिकुमार के शव को लखनऊ विधि विज्ञान प्रयोगशाला भेज दिया।

यहां भी उन्होंने दूसरी जहां की बात करते हुए शव को वापस भेज दिया। इसके बाद पुलिस शव को जयसिंहपुर थाने में ले आई। इस सब के बाद जब मृतक के परिवारजनों ने अंतिम संस्कार के लिए शशिकुमार का शव ले जाना चाह तो पुलिस बिना किसी लिखापढ़ी के उन्हें शव देना चाह रही थी। इसके सब के बाद अपना दर्द बयां करते हुए कहा कि उन्होंने तहसील दिवस और पुलिस अधीक्षक से भी इस बारे में शिकायत की लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई।

वहीं जयसिंहपुर के क्षेत्राधिकारी का कहना है कि जब तक विधि विज्ञान प्रयोगशाला की रिपोर्ट नहीं आ जाती तब तक कुछ भी साफ कहना बेहद मुश्किल है। उनका का कहना है कि जब तक रिपोर्ट नहीं आ जाती तब शव पुलिस के पास ही सुरक्षित रहेगा।

वीडियो: कॉमेडियन कपिल शर्मा के खिलाफ FIR दर्ज; मैंग्रोव के पेड़ों को नुकसान पहुंचाने का आरोप

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App