ताज़ा खबर
 

योगी आदित्‍य नाथ के सीएम बनने के बाद ‘राइट टाइम’ हुए अधिकारी, कहीं भी धूल जमने नहीं दे रहे मंत्री

मुख्यमंत्री बनने के महज एक सप्ताह के अंदर आदित्यनाथ ने करीब 50 नीतिगत फैसले लिए हैं।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ। (PTI Photo)

उत्‍तर प्रदेश को नया मुखिया मिलने के बाद सरकारी कार्यालयों में बदलाव देखा जा रहा है। अधिकारी-कर्मचारी समय पर ऑफिस आने लगे हैं, गुटखा और पान की जगह च्‍यूइंग गम और टॉफी ने ले ली है। सुबह 9.30 बजे तक सब लोग काम शुरू कर देते हैं। टाइम्‍स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, सचिवालय के एक चपरासी ने बुधवार को जैसे ही पान मसाला की पुड़‍िया बाहर निकाली, एक अधिकारी ने उसे हड़काया और याद दिलाया कि सरकारी ऑफिसों में इस पर बैन है। नई विधानसभा बिल्डिंग में लोगों ने च्‍यूइंग चबाना शुरू कर दिया है। वन विभाग ने तो अपने कॉरिडोर्स में पोस्‍टर्स लगा दिए हैं, जिसपर लिखा है, ”आप कैमरे की नजर में हैं। गुटखा खाने पर एक हजार रुपए फाइन लगेगा।” ज्‍यादातर कार्यालय पहले से साफ हो गए हैं। किनारों पर चिर-काल से छपी पान और गुटखे की पीकें अब हट गई हैं। कुछ दिन पहले सीएम योगी आदित्‍य नाथ ने कर्मचारियों से 18-20 घंटे काम के लिए तैयार रहने को कहा था।

योगी ने अधिकारियों को सख्‍त हिदायत दी थी कि वह काम की फाइलें घर लेकर न जाएं। इसके अलावा सरकारी ऑफ‍िसों में अब बायोमीट्रिक अटेंडेंस सिस्‍टम लगा दिया गया है। कई मंत्रियों ने अपने स्‍टाफ को सख्‍त निर्देश दे रखे हैं कि वे सफाई पर खास ध्‍यान रखें और कहीं भी धूल न जमने दें। सूर्य प्रताश शाही, धर्मपाल सिंह और सुरेश खन्‍ना जैसे सीनियर मंत्री ही नहीं, बल्कि अनुपम जायसवाल, श्रीकांत शर्मा और सिद्धार्थ नाथ सिंह जैसे जूनियर मंत्री भी डेकोरम बनाए रखने पर ध्‍यान दे रहे हैं।

मुख्यमंत्री बनने के महज एक सप्ताह के अंदर आदित्यनाथ ने करीब 50 नीतिगत फैसले लिए हैं। योगी ने पदभार ग्रहण करने के अगले ही दिन सचिवालय का औचक निरीक्षण करके यह जाहिर कर दिया कि वह सरकारी तंत्र में वक्त की पाबंदी, काम में ईमानदारी और कार्यालय में स्वच्छता के मामले में कोई समझौता नहीं करेंगे। पिछले 40 साल के दौरान सचिवालय का दौरा करने वाले वह पहले मुख्यमंत्री हैं।

योगी ने अपने दौरे के दौरान सरकारी कार्यालयों, अस्पतालों तथा विद्यालयों में पान, तम्बाकू तथा पान मसाला खाने पर पाबंदी लगा दी और सभी अधिकारियों को स्वच्छता रखने की शपथ दिलाई थी। अगले ही दिन उनकी सरकार के एक मंत्री अपने कार्यालय में झाड़ू लगाते और कई मंत्री फाइलों में जमी धूल साफ करते नजर आए थे।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से जुड़ी 10 बातें

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 सपा सरकार में 78 आईपीएस के 10 बार हुए तबादले
2 निषाद संघ के नेता ने मुलायम सिंह यादव की छोटी बहू अपर्णा यादव को बताया सपा की हार का कारण
3 अखिलेश यादव ने पूछा- सीएम हाउस की शुद्धि करा क्‍या जताना चाहते हैं योगी आदित्‍यनाथ, मैं हिंदू नहीं हूं?
ये पढ़ा क्या?
X