Uttar Pradesh: CM yogi adityanath ban pan masala in Schools, Tearchers cant wear T-shirt - Jansatta
ताज़ा खबर
 

यूपी के स्कूलों तक पहुंचा CM योगी का संदेश, कहा- टीचर्स नहीं पहनें ‘टी-शर्ट’, दो दिन में हटाएं गुटखे के निशान

स्कूलों से गुटखे के दाग हटाने और आसपास के इलाके में कोई भी पान-गुटखे की दुकान ना होने के भी आदेश दिए गए हैं

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि अयोध्या में कई वर्षों से बन्द पड़ा रामलीला का मंचन शुरू किया जाए।

सीएम बनने के बाद से ही योगी आदित्य नाथ सरकार ने कई कड़े कदम उठाए हैं। बुधवार को सीएम ने अफसरों को स्वच्छता का ध्यान रखने और परिसर में पान- गुटखे से गंदगी ना करने के आदेश दिए थे। वहीं सरकारी कार्यालयों के बाद सीएम का यह आदेश यूपी के स्कूलों तक पहुंच गया है। यूपी के स्कूलों में निर्देश जारी किए गए हैं कि स्कूलों से गुटखों के दाग हटाए जाएं और स्कूल के आसपास के इलाके में कोई भी पान-गुटखे की दुकान ना हो। इसके अलावा सरकार ने शिक्षकों के लिए भी कुछ नियम जारी किए हैं।

इसमें कहा गया है कि टीचर्स ड्यूटी पर पान-मसाला या गुटखा ना खाएं। साथ ही टीचर्स ‘टी-शर्ट’ पहनकर स्कूल ना आएं। शिक्षकों से मर्यादित कपड़े पहननें और मोबाइल का बेवजह इस्तेमाल ना करने को भी कहा गया है। इसके अलावा कहा गया कि हर स्कूल में हर रोज कम से कम एक घंटे तक प्रार्थना की जाएगी और लड़कियों से कोई छेड़छाड़ का मामला सामने आता है तो उसपर तुरंत कार्रवाई होनी चाहिए।

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री ने बुधवार को एनेक्सी भवन का औचक निरीक्षण करके अधिकारियों को समय से दफ्तर आने की हिदायत के साथ खासतौर से स्वच्छता को लेकर विशेष निर्देश दिये थे। आदित्यनाथ ने सभी अधिकारियों से कहा था कि वे स्वयं स्वच्छता का ध्यान रखें। पान, गुटखा इत्यादि खाकर परिसर में गंदगी ना करें। सरकारी कार्यों के चलन से प्लास्टिक को दूर करें। प्लास्टिक के सामान का भी कम से कम प्रयोग करें।

योगी आदित्यनाथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वच्छता मिशन की तरफ खासे आकर्षित दिखते हैं। उन्होंने सीएम पद की शपथ लेने के बाद अपने सभी मंत्रियों को स्वच्छता की शपथ दिलवाई थी। सबने प्रदेश को साफ रखने की कसम खाई थी। इसके अलावा वह अवैध बूचड़खानों पर कार्रवाई शुरू कर चुके हैं। करीब 20 बूचड़खानों को बंद भी किया जा चुका है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App